सोशल मीडिया पर वायरल हुए जारहे व्हाट्सएप्प के इस फीचर की पढ़े पूरी सच्चाई।

0
329

नई दिल्ली: सोशल मीडिया पर एक संदेश वायरल किया जा रहा है। संदेश के द्वारा दावा किया गया है की व्हाट्सएप की अद्यतन फीचर के अनुसार, सरकार अब ऐप पर आदान-प्रदान किए जा रहे संदेशों की निगरानी कर सकती है। वायरल न्यूज के अनुसार संदेश के अंत में लाल-टिक दिखाई देने पर उपयोगकर्ता को गिरफ्तार की जा सकती है, संदेश यह दावा करता है की व्हाट्सएप की नई सुविधाओं में तीन टिक शामिल हैं। तीन टिक की सुविधा बता सकती हैं कि सरकार ने संदेश पढ़ा है या नहीं, और क्या संदेश में कुछ आपत्तिजनक है या नहीं।

मालूम हो की लोग दो नीली टिकों के बारे में बड़े पैमाने पर जानते हैं जो उन्हें बताते हैं कि संदेश प्राप्तकर्ता द्वारा पढ़ा गया है। हालांकि, वायरल संदेश के दावों के अनुसार, अद्यतन संस्करण में अब तीन टिक होंगे।

बता दे कि ये पूरी की पूरी खबर अफवाह है जो कि सोशल मीडिया द्वारा फैलाया जा रहा है

असल मे व्हाट्सएप संदेशों के अंत एन्क्रिप्शन से अंत में काम करता है, जिसका मतलब है कि केवल दो भेजने और प्राप्त करने वाले पार्टियां संदेश पढ़ सकते हैं। कोई अन्य तीसरी पार्टी इसे पढ़ने में सक्षम नहीं है। मालूम हो की व्हाट्सएप संदेशों को अपने सर्वर पर संग्रहीत नहीं करता है। यदि कोई संदेश तत्काल वितरित नहीं होता है, तो व्हाट्सएप इसे 30 दिनों तक संग्रहीत करता है और उस समय-फ्रेम के भीतर इसे भेजने का प्रयास करता है। अगर प्रेषण विफल हो गया है, तो व्हाट्सएप संदेश हटा देता है

क्या कहते है विशेषज्ञ

साइबर विशेषज्ञ अनुज अग्रवाल कहते है की उन्हें विश्वास है कि यह संदेश एक धोखाधड़ी है। उनके अनुसार देश में इस तरह की सेंसरशिप नहीं है, क्योंकि यह मूल अधिकारों के खिलाफ होगी। भविष्य में भी ऐसी चीज संभव नहीं है, फिलहाल अफवाहें फैलाने के लिए सोशल मीडिया का दुरुपयोग किया जा रहा है।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here