सहरसा, पूर्णिया कोर्ट और जयनगर में बनेगा अत्याधुनिक वाशिंग पीट, अगले वित्तीय वर्ष तक पूरे मंडल में चलेंगी विद्युत रेल

0
1275

ट्रेनों की संख्या बढ़ते ही अब समस्तीपुर रेल मंडल के सहरसा, जयनगर और पूर्णिया कोर्ट स्टेशन पर नए वाशिंग पीट बनाए जाने की जरूरत है। सहरसा से प्रतिदिन लाखो यात्री सफर करते है साथ साथ जैसे जैसे इस रूट में आमान परिवर्तन कार्य पूरा हो रहा है वैसे वैसे सहरसा जं पर ट्रेनों की संख्या बढ़ती जा रही है। ट्रेनों की साफ सफाई और मेंटेनेंस के लिए वाशिंग पीट का निर्माण जरूरी है। पूर्णिया कोर्ट स्टेशन समस्तीपुर रेल मंडल का आखिरी स्टेशन है जहां से लंबी दूरी की ट्रेनों का परिचालन और ट्रेनों के विस्तार के लिए वाशिंग पीट का निर्माण जरूरी है। जयनगर रेलवे स्टेशन बॉर्डर एरिया से नजदीक होने के कारण इसका महत्व और भी बढ़ जाता है। देश के सभी प्रमुख शहरों के लिए ट्रेनों का परिचालन यहां से किया जाता है। आने वाले समय में नेपाल रेलवे लाइन शुरू होने के बाद ट्रेनों कि संख्या में इजाफा होगा। इन तीनों प्रमुख स्टेशनों पर रेलवे 100 करोड़ की लागत से अत्याधुनिक वाशिंग पीट का निर्माण कराएगी जिसके लिए कार्य योजना बनाकर रिपोर्ट रेलवे बोर्ड को मंजूरी के लिए भेज दी गई है। अत्याधुनिक वाशिंग पीट होने से लंबी दूरी की ट्रेनों को चलाना आसान होगा।

2020 के अन्त तक पूरे मंडल में विद्युतीकरण का लक्ष्य

समस्तीपुर रेल मंडल में पूर्ण रूप से विद्युतीकरण का लक्ष्य रखा गया है। जिन रेल मार्गो पर आमान परिवर्तन कार्य चल रहा है वहां निर्माण कार्य पूरा होने के बाद ही विद्युतीकरण कार्य किया जाएगा। समस्तीपुर – खगड़िया और दरभंगा – जयनगर के बीच विद्युतीकरण का कार्य चल रहा है। मार्च महीने के बाद से समस्तीपुर – दरभंगा , दरभंगा – रक्सौल और रक्सौल – नरकटियागंज के बीच विद्युतीकरण का कार्य शुरू किया जाएगा।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here