अब बिहार में रेल अधिकारी भी सुरक्षित नही,रेल लाइन का सर्वेक्षण करने गए दो इंजीनियरों को बच्चा चोर समझ लोगों ने पीटा

0
1301

बिहार में मॉब लिंचिंग की घटना थमने का नाम नही ले रही। अफवाहों के आधार पर भीड़ किसी को भी अपना शिकार बना रही है। हाल में बिहार में मॉब लिंचिंग की घटना में बढ़ोत्तरी से कानून व्यवस्था पर सवाल खड़े करते है कि आखिर प्रशासन इसे रोकने में विफल क्यों हो रहा है। समस्तीपुर में रेल के दो इंजीनियर मॉब लिंचिंग के शिकार हो गए और भीड़ ने जमकर पिटाई कर दी और मोबाइल फोन भी छीन लिया। दोनो इंजीनियर रेल लाइन का सर्वेक्षण करने गये थे।

रेल लाइन बिछाने के सर्वेक्षण के दौरान लोगों ने बच्चा चोर समझ पीटा।

समस्तीपुर के बंगरा थाना क्षेत्र के मुन्नीचक सरसोना गांव में रेलवे के दो इंजीनियर अपनी टीम के साथ रेलवे लाइन बिछाने का सर्वेक्षण कर रहे थे। इसी दौरान गांव के लोगो ने उनपर हमला कर दिया। दोपहर खाना खाने के समय टीम के सदस्य खाना खाने चले गए और रेलवे के इंजीनियर सामान के पास ही सुरक्षा के लिए रुक गए। इस दौरान किसी ने गांव में अफवाह फैला दी कि दो बच्चा चोर गांव के बाहर बैठे है । गांव वाले बिना सोचे समझे दौर पड़े और दोनों की पिटाई शुरू कर दी। दोनो ने गांव वालों को समझाने की कोशिश की लेकिन किसी ने बात नही सुनी। गांव वालों ने बाद में इन्हें पुलिस के हवाले कर दिया। पुलिस ने पूछताछ करने के बाद उन्हें स्पष्ट हुआ कि ये रेल अधिकारी है। पुलिस ने कहा है कि लिखित शिकायत मिलने के बाद लोगों पर करवाई की जाएगी।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here