जदयू ने इस तरीके से की सरकार की मदद,राज्यसभा में ट्रिपल तलाक बिल पास, अब राष्ट्रपति की मंजूरी बाकी।

0
2520

मोदी सरकार के अहम वादों में से एक तीन तलाक आखिरकार राज्यसभा में भी पास हो गया। लोकसभा चुनावों में बीजेपी के लिये तीन तलाक का मुद्दा सबसे अहम था। भाजपा के केंद्र में प्रचंड बहुमत में तीन तलाक ने अहम भूमिका निभाई थी। मुस्लिम महिलाओं ने बढ़ चढ़कर चुनावों में बीजेपी को वोट दिया था। लोकसभा में तीन तलाक बिल पास हो जाने के बाद से राज्यसभा में इस बिल को पास कराना सबसे बड़ी चुनोती थी जिसे मोदी सरकार ने पार कर लिया। अब बस राष्ट्रपति की मुहर लगते ही यह कानून बन जायेगा।मोदी सरकार के राज्यसभा में बहुमत न होने के बाबजूद जदयू सहित कई अन्य पार्टियों ने वाक आउट कर दिया जिससे बीजेपी की राह आसान हो गयी। जदयू के विरोध के बाद भी कानून पास हो गया। जदयू ने सदन को वाक आउट कर दिया।

सेलेक्ट कमिटी की वोटिंग में मिली जीत

लोकसभा में बिल पास होने के बाद राज्यसभा में भी यह बिल पास हो गया। तीन तलाक के बिल के पक्ष में 99 वोट पड़े और विरोध में 84 वोट पड़े। सेलेक्ट कमिटी की वोटिंग में मिली जीत। दोषी पुरुषों को तीन साल की सजा सुनाई जाएगी। पीड़ित महिलाएं अपने गुजारे भत्ते की भी मांग कर सकेंगी।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here