राजधानी शताब्दी से भी तेज दौड़ेगी भारत की ये लोकल ट्रेन , इस शहर में शुरू हुआ ट्रायल

0
924

मुरादाबाद: रेलवे यात्री सुविधाओं इजाफे पर लगातार काम कर रही है, साथ ही लगातार आधुनिक तकनीक से रेल को लैस कर रहा है। इसी के तहत ही अब अत्याधुनिक तकनीक से सुसज्जित ट्रेनों का ट्रायल भी किया जा रहा है,जो सफर के एहसास को बदल कर रख देंगी।

रिसर्च डिजाइन एंड स्टैंडर्ड आर्गेनाइजेशन द्वारा मेमू का ट्रायल

मुरादाबाद रेल मंडल में रिसर्च डिजाइन एंड स्टैंडर्ड आर्गेनाइजेशन की ओर से संयुक्त रूप से आधुनिक मेमू का ट्रायल किया गया। जिसे रेल कोच फैक्ट्री चेन्नई ने मेट्रो की तर्ज पर तैयार (आधुनिक मेमू) किया है। इसे इलेक्ट्रानिक सिस्टम द्वारा संचालित किया जाएगा, जबकि वर्तमान मेमू मैकनिकल सिस्टम से चलती है। आधुनिक मेमू को कम समय में रोका जा सकता है और चलाया जा सकता है। प्लेटफार्म से चलते ही यह ट्रेन 115 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार पकड़ लेगी,-यही नहीं ट्रेन में सवार यात्रियों को झटका भी नहीं लगेगा। विद्युत से चलने वाली अन्य ई लोको के मुकाबले, बिजली की खपत भी कम होगी।

115 की रफ्तार से होगा ट्रायल

डीआरए अजय कुमार सिंघल ने बताया कि आज मुरादाबाद-सहारनपुर के बीच ट्रायल किया जा रहा है। ट्रायलत्रआरडीएसओ की टीम को करना है, मंडल रेल प्रशासन सहयोग करेगा। ट्रायल 105 से 115 किलोमीटर प्रति घंटा की रफ्तार से चलाकर किया जाएगा।

ये है खूबियां

ट्रायल के बाद इस ट्रेन को बरेली सहारनपुर रुट पर चलाया जाएगा, जिससे लोकल यात्रियों को खासा फायदा होगा। ये ट्रेन पूरी तरह इंटरकनेक्ट है, साथ ही यात्रियों के लिये और भी कई तरह की सुविधाएं भी इस ट्रेन में शामिल हैं। इसके दरवाजे भी मेट्रो की तरह ऑटोमैटिक बंद और खुलेंगे और लोको पायलट के लिए भी दोनों तरफ केबिन होंगे।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here