सरकारी अस्पताल के मरीजो को प्राइवेट हॉस्पिटल ले जाते हुए एक दलाल गिरफ्तार । वीडियो देखे

0
1227

सहरसा ( तेजस्वी ठाकुर) शहर के गांधी पथ स्थित सूर्या होस्पीटल की करतूत एक बार फिर उजागर हो गयी। कुछ दिन से शिकायतें अा रही थी, की शहर के निजी नर्सिंग होम सरकारी अस्पताल के मरीजों को इलाज के नाम पर बहला कर अपने क्लीनिक ले जाते है। उसी में से एक सूर्या होस्पीटल के एक दलाल को सहरसा सदर अस्पताल में रविवार की रात उस समय गिरफ्तार कर लिया गया, जब सदर अस्पताल से पटना के लिए रेफर एक मरीज को सूर्या हास्पीटल ले जाने की कोशिश कर रहा था। दलाल ने रेफर मरीज के परिजन को जब सूर्या हास्पीटल में भर्ती कराकर इलाज कराने की बात कही तो उसने वहां जाने से इंकार कर दिया ।

मामले का खुलासा ।

मामले का खुलासा तब हुआ जब एक मरीज को डाक्टरों ने पटना के लिए रेफर किया। सूर्या हॉस्पिटल के दलाल ने अपने क्लीनिक ले जाने की बात कही तो, परिजनों ने कहा जब पटना रफर किया गया है तो फिर सूर्या हास्पीटल में क्यों लेकर जाएं। परिजन द्वारा विरोध करने के बाद भी दलाल उसे मनाने की कोशिश करते रहे।परिजन को जब लगा की दलाल उसपर दबाब देने लगा है तो, वहां मौजूद लोगों ने इसकी सूचना सिविल सर्जन को मोबाइल पर दे दी । सुचना मिलते ही सिविल सर्जन शैलेन्द्र कुमार गुप्ता ने अपने अस्पताल प्रबंधक विनय रंजन को तुरंत अस्पताल पह़ुचकर उस दलाल को पकड़ में ले ने का आदेश दिया। आदेश मिलते ही प्रबंधक विनय रंजन जब तक सदर अस्पताल पहुंचे, फिलहाल अस्पताल के सुरक्षा गार्ड ने उस दलाल को अपनी गिरफ्त में ले लिया। बाद में सूचना मिलने पर सदर थाना के पैंथर जवानों ने उस दलाल को गिरफ्तार कर लिया, सदर थाना पुलिस ने गिरफ्तार दलाल से पूछताछ करना शुरू कर दिया।

निजी अस्पताल वाले मरीजों से इलाज के नाम पर मोटी फीस वसूल रहे है ।

मामले को उठाने वाले पत्रकार
तेजस्वी ठाकुर ।

मालूम हो शहर स्थित अन्य निजी अस्पतालों के साथ साथ सूर्या हास्पीटल के दलालों द्वारा सदर अस्पताल से रेफर होने वाले मरीजों को बहला फुसला कर ही नहीं, बल्कि जबरन भी अपने निजी अस्पताल पह़ुचाकर पाकेट गर्म करते रहे हैं। सोशल मीडिया या फिर अन्य मीडिया के जरिये जब यह बात सामने आती है तो, निजी अस्पताल प्रबंधन अपनी अपनी करतूतों पर पर्दा डालने खातिर अलग अलग तरीका भी अपनाने लगते हैं। यहां तक की ऐसे निजी अस्पताल के समर्थक तो स्वार्थपूर्ति खातिर जातिगत बातों को भी उछालना शुरू कर देते हैं। पूर्व के दिनों में फेसबुक पर किये गये पोस्ट पर दी गयी प्रतिक्रिया से इन बातों की पुष्टि भी होती है ।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here