सहरसा स्थित मंडन कृषि महाविधालय के छात्रों ने भगवान बनकर रिंकू देवी की बचाई जान, जाने क्या है मामला

0
511

किडनी और खून की कमी से जूझ रही रिंकू देवी के लिए भगवान बन कर उभरे मंडन भारती कृषि कॉलेज के छात्र। कुछ दिन पूर्व सरस्वती पूजा विसर्जन के दौरान ट्रैक्टर पलटने के दौरान कई छात्र घायल हो गए थे। उनमें से दो गंभीर रूप से घायल छात्रों को निजी नर्सिंग अस्पताल में भर्ती कराया गया था। जब डॉक्टर उम्मीद की किरण खो चुके थे तब इन दो छात्रों को देख भाल कर रहे कॉलेज के विद्यार्थियों ने महिला को खून देकर एक मिसाल पेश की। सबसे बड़ी बात तो यह है कि उसी आईसीयू में मधेपुरा के पस्तपार के विजेंद्र ऋषिदेव की पत्नी सात माह की गर्भवती रिंकु देवी भर्ती थी जिंदगी और मौत से जूझ रही थी खून की कमी और किडनी फेल की वजह से डॉक्टर की पूरी व्यवस्था रिंकु देवी को बचा पाने में फेल साबित हो रही थी ।

छात्रों की बजह से रिंकू देवी की जान बचाई जा सकी

रिंकू देवी की जीवन बचाने के लिए भगवान बनकर उभरा मंडन भारती कृषि कॉलेज अगवानपुर का छात्र रिंकू की जिंदगी बचाने के लिए कॉलेज के छात्र ने पांच यूनिट ब्लड डोनेट कर हर संभव मदद का भरोसा दिया । डॉ रंजेश कुमार सिंह ने भी कहा कि छात्रों का यह सबसे बड़ा सराहनीय सहयोग है अब रिंकु देवी जिंदगी बचाई जा सकती है। गायत्री नर्सिंग होम के आईसीयू में भर्ती कॉलेज के दो छात्र आकाश और राजीव अब खतरे से बाहर कॉलेज प्रबंधक सहित छात्रों ने डॉ रंजेश कुमार सिंह को तहे दिल से किया शुक्रिया ।

छात्रों ने इससे पहले भी ब्लड डोनेट कर किया नेक कार्य

मंडन भारती कृषि कॉलेज के छात्रों ने दिसंबर के महीने में 40 से 50 यूनिट ब्लड डोनेट किया था। ब्लड बैंक को 4 यूनिट ब्लड देकर महिला की जान बचाने में कमल, राजीव ,अमर, कृष्णा, आदित्य, सौरव, सुमित और संतोष ने खून देकर मिशाल पेश की।

साभार : तेजस्वी ठाकुर

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here