देश की शान लाइफलाइन एक्सप्रेस, विश्व का पहला चलता फिरता हाईटेक अस्पताल। जानिए इसकी कहानी, हमारी जुबानी

0
2119

रेल की पटरियों पर पांच बोगियों में आधुनिक चिकित्सा उपकरणों से सुसज्जित जीवन-रेखा एक्सप्रेस के नाम से देश भर में प्रसिद्ध जीवन रेखा एक्सप्रेस दूरदराज और ग्रामीण इलाकों में चिकित्सा सेवा का एक ऐसा अस्पताल साबित हुई है,जो कि दुनिया में सबसे ज्यादा ऑपरेशन करने वाली ट्रेन हॉस्पिटल के रूप में आदर्श बनी गई है। इस ट्रैन अस्पताल का शुरुआत गाँव में रह रहे ग़रीब, सुविधा से वंचित और बीमार लोगों के लिए हुई थी।इस ट्रेन को इम्पैक्ट इंडिया फाउंडेशन भारतीय रेलवे के साथ मिलकर चलाती है।

लाइफलाइन एक्सप्रेस (जीवनरेखा एक्सप्रेस) दुनिया की पहली हॉस्पिटल ट्रेन है। 1991 में चलाई गई लाइफलाइन एक्सप्रेस ने देश भर का सफर किया है। इसका मुख्य उद्देश्य दूर-दराज और दुर्गम इलाकों में मेडिकल सहायता पहुंचाना है।

लाइफलाइन एक्सप्रेस को मैजिक ट्रेन ऑफ इंडिया भी कहा जाता है। यह ट्रेन पिछले 28 साल से काम कर रही है।

ट्रेन पर बेहतरीन स्टेट-ऑफ-द-आर्ट ऑपरेशन थिएटर हैं। सर्जनों ने इस ओटी में कटे होंठ, पोलियो और मोतियाबिंद जैसे कई ऑपरेशन किए हैं।

पिछले 28 सालों में इस ट्रेन ने बिहार,महाराष्ट्र,एमपी से लेकर बंगाल और केरल सहित पूरे भारत का सफर तय किया है।

इ्म्पैक्ट इंडिया के मुताबिक,लाइफलाइन एक्सप्रेस के मॉडल से दूसरे देश भी सीख रहे हैं और चीन व सेंट्रल अफ्रीका में इसी की तर्ज पर प्रोजेक्ट बनाए जा रहे हैं। इसी से प्रेरणा लेकर बांग्लादेश और कंबोडिया में नाव पर अस्पताल भी शुरू किए गए हैं।

साल 2016 से लाइफ लाइफ एक्सप्रेस की सेवाओं में विस्तार हुआ। अब इस ट्रेन में स्तन और गर्भाशय के कैंसरों की सर्जरी भी होने लगी है। लाइफलाइन एक्सप्रेस पिछले तीन दशकों से दूर-दराज के इलाकों में मुफ्त चिकित्सा सेवाएं दे रही है। अब तक यह ट्रेन दस लाख से अधिक लोगों की मदद कर चुकी है। अपने इस सफर में यह ट्रेन एक जिले में करीब महीने भर तक रुकती है। ट्रेन अस्पताल में दो ऑपरेशन थियेटर और 20 लोगों का स्टाफ है। हैरानी की बात तो यह कि यहाँ अधिकतर डॉक्टर यहां मुफ्त में काम करते हैं। इसमें काम करने वाली महक सिक्का कहती हैं कि उन्होंने हेल्थ सेंटर्स की खराब हालत को देखने के बाद इस ट्रेन अस्पताल को ज्वाइन किया।ट्रेन अस्पताल के डिप्टी प्रोजेक्ट डायरेक्टर अनिल दारसे के मुताबिक लॉन्च के बाद से ट्रेन में करीब 1.30 लाख ऑपरेशन हो चुके हैं। और यह देश के करीब 191 जगहों को पार कर चुकी है।

लाइफ लाइन एक्सप्रेस ने करीब 100000 से ज़्यादा गाँव के लोगों का इलाज कर उन्हें दुरुस्त किया है। पूरे देश में अब तक लगभग 200000 किलोमीटर की दूरी तय कर,इस जादुई ट्रेन ने कई बीमारियों जैसे हृदय विकार,देखने सुनने की दुर्बलता,मस्तिष्क संबंधी विकार,आदि जैसी कई बड़ी-बड़ी बीमारियों का इलाज किया है।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here