बिहार के युवा सिपाही बनने गए या पत्थरबाज??ऐसे करेंगे लोगों की रक्षा??

0
1002

बिहार में सिपाही भर्ती की परीक्षा चल रही है। छात्र परीक्षा देने के नाम पर ट्रेनों को निशाना बना रहे है। छात्रों द्वारा परीक्षा देने के नाम पर जगह जगह तोड़फोड़ और ट्रेनों को निशाना बनाने की घटना सामने आ रही है। क्या ऐसे छात्र सिपाही बन के लोगों की रक्षा करेंगे जो कानून तोड़ने पर विश्वास करते है। बिहार के कई शहरों जिनमे हाजीपुर, समस्तीपुर, सहरसा, खगड़िया,छपरा, भभुआ, भागलपुर, मुज़फ्फरपुर , आरा समेत कई जिलों में ऐसी घटना को अंजाम दिया गया। छात्र ट्रेन को तो निशाना बना ही रहे है इसके साथ साथ ट्रेनों में बैठे यात्रियों से मारपीट कर अपने छात्र होने का परिचय भी बखूबी दे रहे है और बिहार के बाहर यह संदेश देने की कोशिश कर रहे है कि हम सुधरेंगे नही। ट्रेनों में की जाने वाली पत्थरबाजी से यात्रियों समेत रेलकर्मियों को भी चौटे आई है। पूरे देश मे शांति से परीक्षा होती है और बिहार में ऐसे परीक्षाओं में छात्रों द्वारा परीक्षा के नाम पर उपद्रव और तोड़फोर किया जाता है। ऐसे में कैसे सम्भलेगा बिहार का भविष्य जब छात्र ही पत्थरबाजी और गुंडागर्दी पर उतर आये तो क्या करेंगे बिहार और लोगों की रक्षा। रेलवे द्वारा परीक्षा स्पेशल ट्रेन चलाये जाने के बाबजूद छात्र उग्र और हिंसक हुए। छात्रों को जागरूक करने के लिए कई जगह जागरूक कार्यक्रम चलाए जा रहे है।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here