पुलिस कप्तान मनोज कुमार के नेतृत्व मे हाईटेक होता दरभंगा।

0
3857
दिल्ली मोड़ पर जांच करते ब्लैक कैट कंमाडो

दरभंगा: दरभंगा शहर आज सार्थक कारणों से चर्चा का केंद्र बना हुआ है, नये पुलिस कप्तान एसएसपी मनोज कुमार के नेतृत्व मे दरभंगा बिहार का दूसरा ऐसा शहर बन गया हैं, जहां नागरिक सुरक्षा और संगठित अपराध के खिलाफ क्विक रिसपॉस टीम का गठन हुआ हैं। दरभंगा शहर मे हो रहे नये प्रयोग से ना सिर्फ लोगों की उम्मीद जागी है, साथ ही प्रशासन पर लोगों का विश्वास और गहरा हुआ हैं।

ट्रैफिक थाना का गठन

एसएसपी ने आते ही सबसे पहले वर्षों से लबित ट्रैफिक थाने की परिकल्पना को जमीन पर उतारा। दरभंगा उत्तर बिहार का पहला शहर बना जहाँ नाका 6 पर यातायात व्यवस्था के लिए अलग पुलिस और पुलिस थाने का गठन हुआ।

ब्लैक कैट कंमाडो

संगठित अपराध और अपराधियों के खिलाफ दरभंगा शहर में पहली बार ब्लैक कैट कंमाडो का गठन हुआ। दरभंगा के एएसपी मनोज कुमार की विशेष पहल पर, सीआईएटी के प्रशिक्षण जवानों को विशेष अभियानों के ब्लैक कैट कंमाडो का रूप दिया गया। मालूम हो की काउंटर इंटलीजेंसी एंटी टेररिस्ट के इन जवानों को आधुनिक हथियार चलाने से लेकर संगठित अपराध से निपटने में इन्हें विशेष महारत हासिल हैं।

पुलिस और नागरिकों के बीच सीधे संवाद के लिए पुलिस वेबसाइट

वेबसाइट “दरभंगा पुलिस” के मदद से ऑटो, टेंपों और अन्य कॉमर्शियल वाहनों की जानकारी उपलब्ध करायी गयीं हैं, जिससे अवैध तरह से चल रहे वाहनों पर नियंत्रण पाया जा सके। इस वेबसाइट के द्वारा व्हाट्सएप से भी आम नागरिक शिकायत दर्ज करवा सकते हैं ताकि पुलिस यथासंभव कार्रवाई कर सके। इस को बनाने मे एसएसपी की बड़ी भूमिका रही हैं।

कोर्ट की सुरक्षा के लिए क्लिक रिसपॉस टीम

संगठित अपराध के खिलाफ ब्लैक कंमाडर तैयार करने के बाद दरभंगा के एसएसपी ने कोर्ट परिसर की सुरक्षा के लिए क्विक रिस्पॉन्स टीम तैयार की हैं। आधुनिक हथियारों से लैस टीम के हाथों मे दरभंगा कोर्ट की सुरक्षा व्यवस्था होगी। इनका प्रमुख कार्य सुरक्षा को सुनिश्चित करने के अलावा अपराध करने की मंशा से कोर्ट परिसर आने वाले अपराधियों पर कार्रवाही करना होगा। पूरी टीम अत्याधुनिक हथियारों के साथ साथ संपर्क तंत्र से भी लैस होगी, वायरल के द्वारा इन का सीधा संपर्क जिला प्रशासन तक होगा।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here