बिहार के सोमेश चौधरी ने केबीसी की हॉट सीट पर जीते 25 लाख रूपए ,जीत के 25 लाख से म्यूजिक इंस्टिट्यूट बनाएंगे

0
2040

बिहार के भागलपुर के सोमेश कुमार चौधरी ने केबीसी की दसवीं सीजन में 25 लाख रुपए जीते हैं। वो पिछले आठ साल से केबीसी में जाने की कोशिश कर रहे थे। सोमेश ने कहा कि उनकी दिली इच्छा,अमिताभ बच्चन से मिलने का सपना पूरा हो गया। उन्होंने कहा कि कई बार कोशिश करने पर भी मौका नहीं मिला तो मैंने आगे ट्राई करना छोड़ दिया। भागलपुर के लोगों की चाहत थी कि वे सात करोड़ जीते

केबीसी तक पहुचने की कहानी है दिलचस्प

केबीसी में पहुंचने की सोमेश कुमार चौधरी की स्टोरी भी बड़ी दिलचस्प है। पिछले नौ साल से सोमेश केबीसी में जाने की कोशिश कर रहे थे। हर बार निराशा हाथ लगने के बाद इस बार सोमेश ने अब हार मान लिया था और कोशिश नहीं करने की सोच ली थी लेकिन अपनी छोटी बहन नीतू मिश्रा के बार-बार रिक्वेस्ट करने पर सोमेश ने केबीसी में रजिस्ट्रेशन कराया। छोटी बहन को लगता था कि भैया झूठ बोल रहे हैं। इस पर नीतू सोमेश से केबीसी में अप्लाई किए गए एसएमएस का स्क्रीन शॉट मांगा।

इसके बाद सोमेश ने बहन को प्रमाण के रूप में न्यू कूच बिहार जहां वे टीटीई पद पर कार्यरत हैं वहां से स्क्रीन शॉट भेजा। इधर नीतू भगवान से प्रार्थना कर रही थी कि एक बार भैया केबीसी के हॉट सीट पर बैठे। इधर छह जून को रजिस्ट्रेशन करने के बाद ही केबीसी से सोमेश को फोन आ गया। सोमेश से तीन सवाल पूछे गये। सही जवाब देने के बाद उन्हें ऑडिशन के लिए बनारस बुलाया गया। वहां उनसे कई प्रश्न पूछे गये। फिर इंटरव्यू हुआ।भागलपुर आने के बाद सोमेश को केबीसी ने फोन कर बताया कि आपका सलेक्शन फास्टेट फिंगर के लिए कर लिया गया है। इसके बाद सोमेश समेत उनकी बहन और घर के सभी सदस्यों की चेहरे खिल गये थे ।

जीते हुए पैसे से बनाएंगे म्यूजिक इंस्टिट्यूट

सोमेश ने कहा – मेरे बड़े भाई मुकेश म्यूजिक टीचर हैं। मैं जीते हुए पैसे से उनके लिए म्यूजिक इंस्टिट्यूट बनवाऊंगा। भागलपुर जैसे शहर में म्यूजिक सीखने के लिए बहुत सुविधाएं नहीं है। मैं ऐसा इंस्टिट्यूट बनाना चाहता हूं जहां गरीब के बच्चे भी म्यूजिक सीख सकें।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here