दिल्ली- दरभंगा- पूर्वोत्तर के लिए सीधा RAIL CORRIDOR का रास्ता हुआ आसान, सकरी-फारबिसगंज आमान परिवर्तन के लिए मिले 150 करोड़।

0
7528

दरभंगा: भविष्य की अतिमहत्वाकांक्षी योजना की राहे आसान हो चली हैं, आमान परिवर्तन( GAUGE CONVERSION ) के तहत चल रहे ब्रॉड गेज रेल लिंक हेतु सरकार ने अपना खजाना खोल रखा हैं। इस बार के बजट ( RAIL BUDGET ) में इस रेल लाइन हेतु 150करोड़ आंवटित किया गया है। मालूम हो की इसे सकरी- झंझारपुर- लौकहा- सहरसा- फारबिसगंज रेल खंड के निर्माण पर खर्च किया जाना है।

वर्तमान सरकार मे आयी इस परियोजना में तेजी।

Omega

वर्षों से आमान परिवर्तन की बाट जोह रहे इस क्षेत्र मे वर्तमान सरकार द्वारा लगातार अच्छी खासी राशि आंवटित किये जाने के कारण परियोजना मे लगातार तेजी देखी जा रही हैं। फिलहाल सकरी से मडन मिश्र हॉल्ट तो वही सहरसा की ओर से गढ़बरूआरी तक के सेक्शन को रेल परिचालन के लिए खोला जा चुका है। हाल मे ही ट्रेन झंझारपुर जंक्शन तक भी पहुँचने मे कामयाब रही, जिसके बाद इस साल के अंत तक ट्रेनों के झंझारपुर से परिचालन की उम्मीद जताई जा रही हैं।

घटेगी दिल्ली से पूर्वोत्तर की दूरी।

प्रधानमंत्री रहते अटल जी ने तत्कालीन रेलमंत्री नीतीश कुमार के साथ सकरी- निर्मली अमान परिवर्तन सह 400 करोड़ की लागत से कोसी पर रेल महासेतु की आधारशिला रखी थी। कोसी रेल महासेतु अब बनकर तैयार हैं, साथ ही अररिया-गलगलिया नयी लाइन ( RAIL CORRIDOR ) पर भी काम जारी है, जिसके खुलते ही नरकटियागंज- रक्सौल- सीतामढ़ी- दरभंगा- झंझारपुर- निर्मली- फारबिसगंज- अररिया- गलगलिया हो दिल्ली को असम और पूर्वोत्तर राज्यों की दूरी 350 किलोमीटर तक कम कर देंगा।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here