उपेक्षित हैं सीतामढ़ी जंक्शन, माँँ जानकी की भूमि के विकास को ले रेलवे उदास

0
1045

सीतामढ़ी: मां जानकी की जन्मभूमि और आध्यात्मिक महत्व रखेने वाली सीतामढ़ी के उपेक्षा का दौर जारी हैं। मालूम हो की सीतामढ़ी में लाखो श्रद्धालु हर वर्ष माता सीता के जन्मस्थली के दर्शन करने आते है, जहाँ वो मिथिला के प्राचीन सभ्यता से भी रूबरू होते है। माँ जानकी का मिथिला मे खास स्थान हैं, ऐसे मे सीतामढ़ी जंक्शन पर पर्यटकों और यात्रियों को लिए सुविधाओं का अभाव कई सवाल खड़े करते हैं।

सुविधाओं का टोटा

सीतामढी स्टेशन की बात करे तो, यहां सुविधाओ की घोर कमी है। कहने को तो सीतामढ़ी स्टेशन को मॉडल स्टेशन का दर्जा प्राप्त है, पर सुविधाओं से पूरे जंक्शन को अछूता रखा गया है। 2008 में मीटरगेज से ब्रॉडगेज लाइन मे परिवर्तन के बाद सीतामढ़ी के विकास की स्थानीय लोगों में उम्मीद जगी थी, कुछ ही महीनों बाद सीतामढ़ी को मुजफ्फरपुर से भी रेल लाइन से जोड़ा गया। जहां मुजफ्फरपुर-सीतामढ़ी के बीच बने खंड का उपयोग माल परिचालन के लिए अधिक लाया जा रहा है, वही दरभंगा-नरकटियागंज खंड हो दिल्ली तक की ट्रेनों की मांग के बाद भी रेलवे द्वारा इसे नजरअंदाज किया जाता रहा है। सीतामढ़ी से मुजफ्फरपुर, रक्सौल और दरभंगा के बीच ट्रेनों का भी टोटा हैं, वहीं ट्रेन की लेटलतीफी भी लोगों के लिए सरदर्द बनी हुई हैं।

सर्कुलेटिंग एरिया सहित पूरे परिसर को विकास का इंतजार

अंधेरे मे डूबा सीतामढ़ी जंक्शन

धार्मिक महत्व के इस क्षेत्र में दूर दूर से आने वाले पर्यटकों के लिए स्टेशन पर वेटिंग रूम की भी व्यवस्था नहीं गई है। स्टेशन के सर्कुलेटिंग एरिया के आस पास गंदगी का अंबार लगा ही रहता है, साथ ही साफ सफाई की उचित व्यवस्था भी रेलवे द्वारा नहीं की गई हैं। मालूम हो की पिछले महीने डीआरएम ने सीतामढ़ी जंक्शन का निरीक्षण किया था, जहाँ स्टेशन परिसर व प्लेटफार्मों पर गंदगी देख के डीआरएम ने अधिकारियों व कर्मचारियों को जमकर फटकार लगाई थी। जंक्शन की सर्कुलेटिंग एरिया की बात करें तो पूरा सर्कुलेटिंग एरिया ही अधंकार मे डूब रहता हैं, जिससे असामाजिक तत्वों का डर यात्रियों में हमेशा बना रहता हैं।

मिथिला पेंटिंग के साथ सीतामढ़ी के सौदर्यीकरण की योजना

फिलहाल रेलवे ने सीतामढ़ी स्टेशन को मधुबनी पेंटिंग के तरह सजाने की घोषणा की, जल्द ही स्टेशन के आस पास मिथिला पेंटिंग की झलक दिखाई देगी। पूरे परिसर को सुंदर मिथिला पेंटिंग से सजाया जायेगा, योजना के तहत स्टेशन के गेट पर स्थित पूछताछ कार्यालय के बाहरी ग्राउंड में मां सीता की उत्पति वाली पेंंटिंग खास होगी।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here