सीतामढ़ी की सिंहवाहिनी,सोनबरसा की मुखिया रितु जायसवाल ने फेसबुक पोस्ट के जरिए बाढ़ पीड़ितों की मदद की अपील की

0
1001

सीतामढ़ी की सिंहवाहिनी,सोनबरसा की मुखिया रितु जायसवाल ने फेसबुक के माध्यम से जनता से अपील कर रही है। वह लिखती है सब बर्बाद हो गया! हमारे गाँव को अब आपकी मदद की ज़रूरत है। मदद के लिए बढ़ाया गया आपका एक हाथ कितनों की ज़िंदगी बचा सकता है। पूरा पोस्ट पढ़ियेगा और जो बन बड़े जैसे बन पड़े मदद ज़रूर कीजियेगा। विपदा की इस घड़ी में सीतामढ़ी समेत पूरे उत्तर बिहार की कुशलता के लिए प्रार्थना करती हूँ।

रितु जायसवाल ने मदद की लगाई गुहार

2017 के बाद फिर एक बार उससे भी ज्यादा विनाशकारी बाढ़ ने हम सिंहवाहिनी पंचायत के लोगों के जीवन में दुःख, पीड़ा, हताशा का एक छाप छोड़ दिया है। हम लोग पिछले 3 सालों में काफी तेज़ी से बढे थे जिसकी जानकारी आप लोगों तक हर समय पहुंचाती रही हूँ। सब से गंभीर चुनौती अब ये आ गई है कि अत्यंत ही गरीब परिवार के तक़रीबन 100 से ऊपर घर पूर्णतः इस बाढ़ में बह गए, और कई घर करीब आंशिक रूप से क्षतिग्रस्त हो गए। लोग सड़कों पर, तो कहीं दूसरों के घरों में या स्कूलों में शरण लिए हुए हैं। स्थिर जल जमाव से बिमारी फैलने की समस्या अलग है। नुकसान का मुआयना करने जब इस कीचड़ युक्त कमर से ऊपर पानी को पार कर के पहुंची तो सड़क का और लोगों के घरों का हाल देख आँखों से आंसू थमने का नाम नहीं ले रहा था।

बाढ़ से पीड़ित लोगों को दो वक्त की रोटी नसीब नही

लोगों को दो वक्त की रोटी तक नहीं नसीब हो पा रही है। पंचायत के गाँव – बड़ी सिंहवाहिनी, करहरवा, खुटहां और मंडल टोला की स्थिति एकदम भयावह है। कुछ कम उम्र की विधवायें ऐसी हैं जिनका परिवार तो पहले ही उजड़ चुका था, अब रहने वाला घर भी बह गया। उन विधवाओं के लिए अब एक भी काम नहीं है जिससे अपना और अपने बच्चों का पेट पाल सके। इनके लिये जल्द से जल्द कुछ करना होगा। पंचायत की मुखिया होने के नाते रिपोर्ट तैयार कर रही हूँ, सरकार को भेजने के लिए, और अपने व्यक्तिगत पैसे में से जो बन पा रहा है, हालात ठीक करने केलिए योगदान दे रही हूँ। इस विनाश की घड़ी में ये सब समुंदर में एक लोटे पानी के समान है। पिछले 2017 के बाढ़ के अलावा हमनें पंचायत के लिए आज तक प्रत्यक्ष रूप से कोई आर्थिक मदद स्वीकार नहीं किया। जिन लोगों ने साथ देने केलिए हाथ बढ़ाया उन्हें मैंने यही कहा की आप समय निकाल कर खुद आएं और अपने हाथों से सहयोग दें लोगों के बीच, इसी बहाने आप पंचायत भी देख लेंगें। पर अब तो वो भी संभव नहीं है। आने के रास्ते ही कट चुके हैं और मदद केलिए कई फ़ोन आ रहे हैं बाहर के लोगों के जो किसी भी कीमत पर यहाँ आ नहीं सकते। तो अब आप सब के सुझाव पर हमनें सिंहवाहिनी पंचायत के पुनर्स्थापन केलिए एक ऑनलाइन मदद का कैम्पेन चलाने का फैसला लिया है। आप पैसे से, त्रिपाल से (जो सब से ज्यादा जरूरी है), अनाज से, फ़ूड पैकेट्स से, कपड़ों से, लाइट से, ORS से, ब्लीचिंग पाउडर से या अन्य ज़रूरत के सामानों से मदद कर सकते हैं

रितु जायसवाल ने फेसबुक के जरिये मंगा मदद, इस लिंक को क्लिक कर देखे उनकी अपील https://www.facebook.com/1040494742654420/posts/2265780893459126/

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here