दरभंगा के एसबीआई ब्रॉच मे गोल्ड लोन के नाम पर करोड़ो का फर्जीवाड़ा, नकली सोने के ऐवज में बाटा गया लोन।

5
1696

दरभंगा: कामर्शियल चौक स्थिति एसबीआई से बडे़ फर्जीवाड़े का खुलासा हुआ है, जहाँ आडिट के दौरान नकली सोने के एवज में गोल्ड लोन का मामला सामने आया है। पूरे मामले का खुलासा सेंट्रल टीम द्वारा हुआ हैं, जिसने जांच के दरमियान गोल्ड लोन के तहत बैक में रखे कुछ सोनों को नकली पाया। इस खुलासे के बाद जांच टीम ने बैक मे गोल्ड लोन के रूप में मौजूद सारे सोने की मशीनों से जांच शुरू की, जिससे बड़े फर्जीवाड़े का मामला सामने आया हैं, मशीनों से जांच के बाद गोल्ड लोन के नाम पर करीब करोडों की हेराफेरी का खुलासा हुआ है।

एक तिहाई गोल्ड लोन निकले फर्जी

बैक मे जांच के बाद 300 गोल्ड लोन खाता में से एक तिहाई खातों में जमा सोना नकली निकला, जिसमें डेढ से पौने दो करोड़ के गबन की बात कही जा रही हैं। फिलहाल आडिट टीम ने पटना और मुंबई हेड ऑफिस को इस फर्जीवाड़े की सूचना दे दी है।

पूरे प्रकरण मे अधिकारियों की भूमिका पर भी शंका

पूरे घटना के बाद बैक अधिकारियों के संरक्षण मे ही इस घोटाले की पटकथा लिखे जाने की बात कही जा रही हैं। मालूम हो की गोल्ड लोन से पहले सोने की जांच की जिम्मेदारी कैश ऑफिसर पर होती हैं, जो इसकी शुद्धता की जांच करता हैं। कामर्शियल चौक स्थित ब्रॉच ने सोने के लोन के लिए शुद्धता जांच हेतु रहमगंज स्थित हीरालाल पन्नालाल दुकान से अनुबंध कर रखा है। पूरे मामले में बैंककर्मियों, ग्राहकों और दुकानदार द्वारा इस खेल को अंजाम देने की बात सामने आ रही है, जहाँ दुकानदार नकली सोना पर भी असली का मुहर लगा गोल्ड लोन हेतु इसकी शुद्धता को प्रमाणित कर देता था। फिर बैक अधिकारी इन नकली सोने के एवज में दुकानदार द्वारा तय मूल्य का लोन ग्राहकों को दे कर पूरे घोटाले को अंजाम देते थे।

5 कमेंट

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here