सहरसा में AIIMS खुलने को लेकर कुछ पॉजिटिव संकेत मिले है ।

0
1903

सहरसा/पटना: कोशी एम्स निर्माण संघर्ष समिति के अध्यक्ष विनोद कुमार झा ने सहरसा में एम्स निर्माण हेतु मुख्यमंत्री, उपमुख्यमंत्री सहित कई लोगों से मुलाकात कर,सहरसा मे एम्स की स्थापना हेतु कोशिश शुरू की हैं। एम्स निर्माण संघर्ष समिति के अध्यक्ष के मुताबिक अब तक स्वास्थ्य मंत्री, आपदा मंत्री, बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री डां जगन्नाथ मिश्रा, पूर्व विधायक नीतीश मिश्रा, भाजपा अध्यक्ष कार्यालय, विधायक नितिन नवीन, विधानपार्षद श्रीमती नूतन सिंह सहित राज्य के अनेक नेताओं से मिलकर अपने मांग की सच्चाई से रूबरू कराने हेतु ज्ञापन सौंपा गया हैं। ज्ञापन जरिए एम्स कोशी के लिए कितना जरूरी है ये बताने का प्रयत्न किया ।

सहरसा में एम्स वक्त की जरूरत

फिलहाल सहरसा में एम्स बनना एक सच्चाई बन चुकी है, जो कोशी पीड़ित जनता की आवाज है। सहरसा जिला पदाधिकारी के द्वारा एम्स हेतु भूमि प्रतिवेदन अविलंब केंद्र को भेजा जाना चाहिए ताकि भारत सरकार अविलंब फैसला ले सके। इस संबंध में पूर्व विधानपार्षद और वरीष्ठ नेता श्री कामेश्वर चौपालजी भाजपा के विभिन्न मंच मोर्चा के प्रदेश संयोजक एवं अध्यक्ष रहे सहरसा के श्री आनंद मिश्राजी से मिलकर इस विषय पर घंटों विमर्श किया। इसके लिए भाजपा के पूर्व शिक्षा प्रकोष्ठ के अध्यक्ष प्रो डॉ अनिल यादवजी से भी संपर्क किया। इस अभियान से पटना में सहरसा एम्स की बात चर्चा में जोर पकड़ लिया है, लेकिन इसका क्या फलाफल होगा यह आनेवाला समय बताएगा। हां इस परिप्रेक्ष्य में बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री डॉ जगन्नाथ मिश्रजी बहुत जल्द माननीय मुख्यमंत्रीजी से मिलकर बङा बयान देंगे। इस संघर्ष के बिनोद झा ने सभी कार्यकर्ताओं का अभिवादन किया, जो इस मुहिम में साथ दे रहे है। एम्स निर्माण संघर्ष समिति के माननीय संरक्षक और पूर्व जिला पार्षद प्रवीण आनंदजी इस क्रांति के जनक हैं। हम सभी दलगत भावना से अन्य भावनाओं से ऊपर उठकर मात्र सहरसा वासी बनकर तबतक संघर्ष करेंगे जबतक हमलोग अपने मकसद में कामयाब नहीं हो जाएंगे ।

जल्द ही एम्स निर्माण को लेकर कोशी के नेता एवं पूर्व मुख्यमंत्री जगन्नाथ मिश्र एवं बर्तमान सरकार में मंत्री दिनेश चंद्र यादव मुख्यमंत्री से मिलकर एम्स निर्माण को लेकर आवश्यक कदम उठाने को कहेंगे।

मुख्यमंत्री कुमार को एम्स दिया गया एम्स के लिए ज्ञापन

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here