बिहार के मोतिहारी के लाल रवीश कुमार को मिला एशिया का नोबल पुरस्कार माने जाने वाले 2019 का रेमन मैग्सेसे अवार्ड,12 सालों बाद किसी भारतीय पत्रकार को मिला सम्मान

0
2497

एनडीटीवी के वरिष्ठ पत्रकार रवीश कुमार किसी पहचान के मोहताज नही है। प्राइम टाइम के दौरान अपने अनूठे प्रयोगों और आप आदमी के सरोकार से जुड़ी हुई बातों को बखूबी से उठाते है। रवीश कुमार का प्राइम टाइम के दौरान नौकरी सीरीज काफी पॉपुलर रहा। देश भर के युवा जो प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी करते है या रिजल्ट के बाद अपनी जोइनिंग के लिए रवीश कुमार से मदद मिलने की उम्मीद रखते थे और आज भी छात्र अपनी शिकायतों का पिटारा रवीश कुमार को भेजते है। रवीश कुमार को एशिया का नोबल पुरस्कार कहे जाने वाले रेमन मैग्सेसे अवार्ड से सम्मनानित किया गया। हिंदी पत्रकारिता के योगदान और उनके काम के लिए यह अवार्ड दिया गया।

अवार्ड देने के बाद उनके शो प्राइम टाइम की हुई चर्चा

बिहार के मोतिहारी के रहने वाले रवीश कुमार हिंदी जगत पत्रकारिता में बहुत बड़ा नाम है। रवीश कुमार को अवार्ड देने के बाद उनके शो प्राइम टाइम का जिक्र किया गया। फाउंडेशन ने कहा कि रवीश कुमार का समाचार कार्यक्रम प्राइम टाइम आम लोगो की वास्तविक जीवन से जुड़ी समस्याओं से संबंधित है और साथ मे यह भी कहा यदि आप लोगों की आवाज बन गए है तो आप पत्रकार है।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here