रेलमंत्री ने दी बिहार के कई भेट ! पटना दीघा बनेगी 4 लेन सड़क

0
2912

पटना: सम्राट अशोक कन्वेंशन केन्द्र स्थित बापू सभागार में रेल मंत्रालय द्वारा आयोजित कार्यक्रम में सम्मिलित होते हुए रेलमंत्री पीयूष गोयल ने दीघा पटना की रेलवे की 71.25 एकड़ जमीन को बिहार सरकार को सौंप दिया। ऐसे बिहार सरकार ने 26 जून को ही राज्य सड़क निर्माण विभाग को 222.19 करोड़ की लागत से पटना दीघा 4 लेन सड़क बनाने का आदेश दिया है। कल बापू सभागार कार्यक्रम में केंद्र और राज्य सरकार के मंत्री सहित आर के सिंह, गिरिराज सिंह, नंदकिशोर यादव, अश्वनी चौबे, रामकृपाल यादव, पप्पू यादव आदि मौजूद थे।

फोर लेन निर्माण को ले प्रशासनिक तैयारियां शुरू

नये फोर लेन के लिए प्रशासनिक स्तर पर तैयारी शुरू हो गई है, जिसके तहत सबसे पहले इस रेलखंड की जमीन को अतिक्रमणमुक्त किया जाएगा। इसके लिए प्रमंडलीय आयुक्त आनंद किशोर ने सभी अंचलाधिकारी को निर्देश दिया गया की अतिक्रमणकारियों को नोटिस देने का काम शुरू कर दिया गया हैं। फिलहाल आठ एकड़ जमीन पर कच्चा व पक्का अतिक्रमण किया गया है, नोटिस भेजकर पहले सभी को खुद हटने को कहा जा चुका है। अतिक्रमण ना हटाने की सूरत मे विशेष अभियान के तहत अतिक्रमण हटाने का काम जिला प्रशासन द्वारा शुुुरू किया जायेगा। अभियान के लिए कमर कसते हुए बिहार स्टेट रोड डेवलपमेंट की ओर से बड़ी संख्या में जेसीबी और बुलडोजर उपलब्ध कराये जा रहे है। सड़क निर्माण का काम अगले साल से शुरू हो जाने की उम्मीद हैं, जिसके बाद पटना जंक्शन से जेपी सेतु तक पहुंचने का रास्ता का नया नजदीक रास्ता खुल जायेगा।

रेलमंत्री ने दी बिहार को कई सौगात ।

पीयूष गोयल ने इस मौके पर बिरोल हरनगर रेललाइन और रक्सौल नरकटियागंज लाइन देश को समर्पित किया साथ ही सुपौल अररिया रेल लाइन का शिलान्यास किया। उन्होंने सकरी से बिरौल तक नई पैसेंजर ट्रेन की भी शुरुवात की वीडियो कॉन्फ्रंसिंग के जरिए की। आपको बता दे की प्रसिद्ध कुशेश्वरस्थान मंदिर इसी हरनगर बिरौल रेल रूट में है, जिससे भक्तों के लिए बाबा भोलेनाथ के दर्शन करना आसान होगा ।

महिलाओं के लिए सीटें आरक्षित ,कोशी महासेतु पर रेल

पीयूष गोयल ने घोषणा की आरपीएफ के 10,000 वैकेंसी में 50 प्रतिशत सीट महिलाओं के लिए आरक्षित होंगी, देश के 6000 बड़े स्टेशनों पर सीसीटीवी कैमरा लगाए जाएंगे। कोशी महासेतु का काम 10 महीने में पूरा किया जाएगा और सकरी से निर्मली तक रेल चलाई जाएगी। कोशी रेल महासेतु का भूमि पूजन तत्कालीन प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेई ने 2003 में किया था ।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here