पटना के शेल्टर होम में दो युवतियों की मौत सामने आने के बाद सरकार बैकफुट पर ,गिरफ्तार मनीषा दयाल रातो रात कैसे बनी साधारण से हाई प्रोफाइल महिला? जानिए

0
1675

मुजफ्फरपुर बालिका गृह कांड के बाद अब राज्य की राजधानी पटना के आसरा शेल्टर होम में शुक्रवार को हुए दो महिलाओं की संदिग्ध हालत में हुई मौत ने सनसनी मचा दी है. लड़कियों की मौत के बाद संस्था के संचालक चिन्तन और संचालिका मनीषा दयाल को गिरफ्तार तो कर लिया गया है. जिस तरीके से मुजफ्फरपुर कांड के बाद मुख्य आरोपी बृजेश ठाकुर जो पेशे से पत्रकार हैं कि एक-एक करके पोल पट्टी खुलनी शुरू हुई है. ठीक उसी तरीके से पटना शेल्टर होम की संचालिका मनीषा दयाल को लेकर एक से एक सनसनीखेज खुलासे हो रहे हैं. इस घटना से एक बार फिर से एनजीओ संचालकों का पॉलिटिकल कनेक्शन सामने आया है. पटना के जिस शेल्टर होम में दो युवतियों की मौत हुई है, उसकी कोषाध्यक्ष मनीषा दयाल का पॉलिटिकल और पुलिस कनेक्शन काफी मजबूत है. वह पटना की हाई प्रोफाइल पार्टियों का नामचीन चेहरा हैं और राजनेताओं के साथ भी उनके अच्छे ताल्लुकात हैं. कुछ साल पहले तक मनीषा दयाल राजधानी पटना के गलियारों में एक अनसुना नाम था मगर कुछ ही वक्त में उसने आसमान की बुलंदियों को छूना शुरू कर दिया. जल्द नाम, शोहरत और पैसे कमाने की ललक में मनीषा दयाल ने सबसे पहले राजनीतिक गलियारों में अपनी पकड़ बनानी शुरू की.मेडिकल की पढ़ाई छोड़ कर मनीषा ने एमबीए किया और फिर एनजीओ का काम शुरू किया इसके बाद वो करोड़ो रुपये की मालकिन बन गयी.


बड़े बड़े नेताओ और रसूखदारों के साथ था उठना बैठना

पिछले कुछ दिनों से मनीषा की कुछ तस्वीरें वायरल हो रही हैं, जहां वह पूर्व मंत्री और जदयू नेता श्याम रजक, पूर्व मंत्री और आरजेडी नेता शिवचंद्र राम तथा आरजेडी प्रवक्ता मृत्युंजय तिवारी के साथ नजर आ रही है.

बताया जा रहा है कि बिहार सरकार के कई नौकरशाह और अधिकारियों के कनेक्शन भी मनीषा दयाल से थे,जिसका फायदा उठाकर उसने पटना
में एनजीओ शुरू कर दिया

एक नहीं, है पांच एनजीओ की मालकिन

मनीषा दयाल जो पांच एनजीओ चलाती है उसके नाम हैं.

1. आसरा शेल्टर होम में वह सचिव के पद पर नियुक्त है.
2. अनुमाया ह्यूमन रिसोर्स फाउंडेशन जिसके तहत आसरा शेल्टर होम चलता है उस NGO की वह डायरेक्टर है.
3. आत्मा फाउंडेशन एनजीओ की बोर्ड में सदस्य है मनीषा दयाल.
4. भामाशाह फाउंडेशन ट्रस्ट NGO की कमेटी में सदस्य है मनीषा.
5. स्पर्श डी एडिक्शन हिंदी रिसर्च सोसाइटी NGO में काउंसलर के पद पर नियुक्त है मनीषा.

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here