अंतर्राष्ट्रीय उड़ान के लिए बिहटा एयरपोर्ट को किया जा रहा तैयार, इसे ले जल्द ही निर्माण कार्य होगा शुरू।

0
2746

पटना एयरपोर्ट से वर्तमान में घरेलू विमानों की ही आवाजाही किया जाता है। वहीं अंतर्राष्ट्रीय उड़ानों के लिए बिहार से किसी विमान की सेवा नहीं है। बताते चलें कि पटना हवाई अड्डे की टर्मिनल बिल्डिंग की क्षमता कम हैं, वहीं रनवे की लंबाई अपेक्षा कृत छोटा होने के कारण लंबे समय से अंतर्राष्ट्रीय उड़ानों की सुविधाएं बंद हैं। बिहार से विदेशों के लिए हवाई सफर के ना होने से लोगों को दिल्ली, कोलकाता, मुम्बई जैसे महानगरों का रुख करना पड़ता है।

एयरपोर्ट अथॉरिटी ऑफ इंडिया ने किया एजेंसी का चयन

इसी को देखते हुए एयरपोर्ट पर फ्लाइटों के उड़ानों को लेकर एक बड़ी तैयारियां की जा रही है। बिहटा हवाई अड्डे के विस्तार को ले प्रस्तावित निर्माण का सर्वे दो दिनों में शुरू हो जाएगा। बेंगलुरू की कंपनी सिनर्जी प्राॅपर्टी डेवलपमेंट प्रा॰लि॰ को सर्वे की जिम्मेदारी सौंपी गया है। जिसे एयरपोर्ट अथॉरिटी ऑफ इंडिया ने प्रोजेक्ट मैनेजमेंट कंसल्टेंट को लेकर इस एजेंसी का चुनाव किया है।

फिलहाल वायु सेना द्वारा नियंत्रित

मालूम हो कि बिहटा एयरपोर्ट का दो-तीन दिनों में एजेंसी के सदस्य जायजा करेंगे। जहां एजेंसी को अंतर्राष्ट्रीय उड़ानों के अनुकूल सर्वे रिपोर्ट तैयार करना होगा। बता दें कि बिहटा एयरपोर्ट को वायु सेना के द्वारा नियंत्रित किया जा रहा है।

कोलकाता एयरपोर्ट के तर्ज पर बिहटा एयरपोर्ट को बनाने की तैयारियां

इस एयरपोर्ट के रनवे पर 350 मीटर की दृश्यता रहने पर भी विमानों को उतारा जा सकेगा। वहीं पटना हवाई अड्डे पर प्लेन को लैंड करने के लिए कम से कम 1000 मी॰ की जरूरत होती है। बताते चलें कि कोलकाता एयरपोर्ट के जैसे ही बिहटा में श्रेणी 2 आउएलएस के तहत बनाने की तैयारियां हो रही है। इस एयरपोर्ट पर बोइंग 747 जैसे बड़े विमानों के लैंड करने के लिए रनवे को उसके अनुकूल बनाने का प्रस्ताव है।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here