किचन एवं न्यूट्रीशन गार्डेनिंग कर बनें आत्म निर्भर,सेहत और पर्यावरण की सुरक्षा हमारी जिम्मेदारी

0
225

किचन एवं न्यूट्रीशन गार्डेनिंग कर बनें आत्म निर्भर, संस्था का उद्देश्य होता है की समाज के विकास के लिए काम करें।लोगों को समाज के मुख्य धारा से जोड़े।सरकार की जन कल्याणकारी योजनाओं से लोगों को अवगत कराएं और लोगों की परेशानी से सरकार को अवगत कराएं।इसी मिशन को लेकर ये संस्था सरजमीं पर काम कर रहीं है।राष्ट्रवादी उलमा ए हिन्द (चेरीटेबल ट्रस्ट) के द्वारा पिछलें कई सालों से युवा एवं युवतियों के बीच नि : शुल्क स्किल्स ट्रेनिंग,स्वास्थ्य,समाज को जागरूक के साथ–साथ कई सामाजिक कार्य लगातार करतें आ रहीं है।जिससें समाज के लोग कई माध्यम से लाभान्वित हो रहे है।

इसी कड़ी को मजबूती से आगें बढ़ाते हुए और प्रधानमंत्री के सपना “आत्म निर्भर भारत” को साकार करने के मकसद से नव वर्ष के जनवरी माह से ऑनलाइन ट्रेनिंग की शुरुआत की गई है।जिसमें “Kitchen – Cum – Nutrition Gardening” ट्रेड का पाँच दिवसीय प्रशिक्षण दिया जायेगा।जिसमें बतौर स्पीकर्स कृषि विज्ञान केन्द्र,अगवानपुर, सहरसा के मो० नदीम अख्तर साइंटिस्ट (प्लांट पैथोलॉजी) और सुनीता पासवान साइंटिस्ट (होम साइंस) लोगों को इस ऑनलाइन प्रशिक्षण के बारे में जानकारी देगें।प्रशिक्षण लेने के लिए इस लिंक पर https://docs.google.com/forms/d/1ZHkdPhCIgzj2Iv_BVPrm4DjraDxEQw9-Ne8GVmC22JY/edit जाकर अपना रजिस्ट्रेशन कर सकतें है।

मो० नदीम अख्तर बताते है की सेल्फ गार्डेनिंग एक तरह का थेरेपी है जिसके करने से लोगों को मानशिक शांति मिलती है।ये गृहणी के साथ–साथ युवा वर्गों के लिए भी सुनहरा अवसर है जिसका प्रशिक्षण पाने के बाद आत्म निर्भर बनने के साथ–साथ खुद से जैविक खाद का इस्तेमाल किया हुआ साग सब्जी खाने को मिल पायेगा जो आपको बेहतर सेहत के साथ आपके पर्यावरण को भी शुद्ध करेगा।शहरी क्षेत्र में जहाँ आपके पास जमीन की कमी रहती है उस जगह अपने छत पर भी गार्डनिंग करके अपने सेहत का ख्याल रखते हुए आर्थिक मुनाफा कर सकते है।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here