उत्तर बिहार- दिल्ली की दूरी कम करने वाले रेल खंड पर परिचालन की तैयारी तेज, समस्तीपुर मंडल मे इसके लिए पहली बार इलेक्ट्रॉनिक इंटरलॉकिंग का कार्य जोरो पर

0
5290

रक्सौल: उत्तर बिहार से दिल्ली और गौरखपुर को सीधी जोड़ने वाली नरकटियागंज रक्सौल नयी ब्रॉड गेज लाइन के लिए इंटरलॉकिंग का काम तेजी से जारी हैं। रेलवे सूत्रों की माने तो 15 अगस्त तक इस रास्ते ट्रेनों का परिचालन शुरू हो जाना है। फिलहाल इस को ले कर तैयारियां अतिम चरण में हैं और इस के बाद सहरसा,झंझारपुर, बरौनी, जयनगर, दरभंगा, समस्तीपुर सीतामढ़ी सहित कई क्षेत्रों के लिए दिल्ली का नया और नजदीक का रास्ता खुल जायेगा। इस हो कर चलने वाली गाडियों को मौजूदा किसी भी रास्ते की ट्रेनों से 90 किलोमीटर तक कम सफर करना पड़ेगा।

पहली बार समस्तीपुर रेल मंडल के क्षेत्राधिकार मे होगा विशाल ब्रॉड गेज नेटवर्क

मौजूदा समस्तीपुर मंडल के क्षेत्राधिकार की बात करें तो, यह समस्तीपुर के आगे मुजफ्फरपुर और बरौनी के तरफ सोनपुर मंडल मे चला जाता है। मंडल के गलत ढंग से सीमांकन के बीच समस्तीपुर मंडल की कई ट्रेनों को लेट लतीफी का शिकार होना पड़ता है। वहीं नये ब्रॉड गेज रूट की बात करें तो नयी ब्रॉड गेज रूट के बाद दरभंगा हो सीतामढ़ी, रक्सौल और नरकटियागंज तक समस्तीपुर रेल मंडल के अधिकार क्षेत्र में होगा, जिससे मंडल की ट्रेन कही बेहतर तरीकें से चलाई जा सकेंगी।

समस्तीपुर मंडल मे पहली बार रक्सौल में इलेक्ट्रॉनिक इंटरलॉकिंग का इस्तेमाल

समस्तीपुर मंडल ने अपने नये रूट पर हो रहे इंटरलॉकिंग कार्य के तहत पहली बार पूरे मंडल में नयी तकनीक का उपयोग किया है, जिसमें तहत रक्सौल मे इलेक्ट्रॉनिक इंटरलॉकिंग का व्यवस्था कायम की जा रही हैं। इसे 48 घंटे मे 50 से अधिक अधिकारियों और 200 मजदूरों ने मिलकर तैयार किया हैं, जिसे लेपटॉप से कट्रोल किया जा सकता हैं।

15 अगस्त से दौड़ सकती हैं ट्रेने।

24 जुलाई को इस रूट पर सीआरएस किया गया था, जिसके बाद इसे परिचालन के लिए फिट घोषित कर दिया गया। फिलहाल इंटरलॉकिंग का कार्य पूरा होते ही इस रास्ते ट्रेनों का परिचालन शुरू कर दिया जायेगा, जिससे यात्री रक्सौल वाया सिकटा गौरखपुर और दिल्ली को निकल सकेंगे।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here