राहुल गांधी की अक्षमता की वजह से नीतीश कुमार ने छोड़ा था महागठबंधन का साथ । अमित शाह के कहने पर प्रशांत किशोर जदयू में शामिल किए गए।

0
813

पटना। नीतीश कुमार ने पटना में एवीपी न्यूज़ के कार्यक्रम में कहा की आरजेडी नेता तेजस्वी यादव पर लगे भ्रष्टाचार के आरोपों पर कांग्रेस अध्यक्ष द्वारा कोई स्टैंड नहीं लिए जाने पर राहुल गांधी की अक्षमता की बजह से महागठबंधन से बाहर अा गए। नीतीश कुमार ने कहा की उनकी पार्टी ने 2015 में कांग्रेस को बिहार विधानसभा के चुनावों में 40 सीटें दिलाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी । लेकिन राहुल गांधी द्वारा भ्रष्टचार के मामलों पर चुप्पी साधे रखना उन्हें बहुत ही निराश किया, जिससे की वह गठबंधन न तोड़ने के बारे में विचार कर सकते थे। नीतीश कुमार ने कहा की बिहार में अपराध, भ्रष्टाचार और साम्प्रदायिकता से कभी उन्होंने समझौता नहीं किया। नीतीश कुमार ने कहा की उनके लोग थानों में नए फरमानों के साथ फोन करते थे, सभी कामों में हस्तक्षेप करते थे ऐसे माहौल में काम करना संभव नहीं था।

अमित शाह के कहने पर प्रशांत किशोर को जदयू में शामिल किया ।

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने भाजपा अध्यक्ष अमित शाह के कहने पर प्रशांत किशोर को जदयू में शामिल किया गया। प्रशांत किशोर के बारे में नीतीश कुमार ने कहा की वह हमेशा से प्रशांत किशोर के मुरीद रहे है। नीतीश कुमार ने कहा कि जदयू में कोई उत्तराधिकारी नहीं है ,यह पार्टी सभी की है, यह किसी व्यक्ति विशेष की पार्टी नहीं है। उन्होंने कहा कि उनके बाद जनता जिसे पसंद करेगी उसे अपना नेता बना लेगी। कुछ लोग अपनी पार्टी को ही परिवार की संपत्ति समझते है।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here