चमकी बुखार के बीच नीतीश कुमार की हवाई सर्वेक्षण को लेकर, लोगों ने जमकर किया सोशल मीडिया पर विरोध।

0
938

बिहार के मुजफ्फरपुर में चमकी बुखार और लू का कहर दिनों-दिन बढ़ता ही जा रहा है। बता दें कि अभी तक लगभग 170 से भी ज्यादा बच्चों की मौतें हो चुकी है। जहां लू से काफी संख्या में लोगों की जान जा रही है, जीना दुश्वार हो गया है। वहीं लू प्रभावित क्षेत्रों में डाॅक्टरों को तैनात किया गया है। फिर भी कोई असर नहीं हो पा रहा है।

लोगों के निशाने पर आ गए नीतीश कुमार

मालूम हो कि लू और चमकी बुखार से प्रभावित जिलों में नीतीश कुमार(Nitish Kumar) ने हवाई दौरा का कार्यक्रम बनाया था। जिसका लोग सोशल मीडिया पर जमकर विरोध कर रहे हैं। मुख्यमंत्री लोगों के निशाने पर आ गए हैं। सभी अपने-अपने राय सीएम को लेकर दे रहे हैं। किसी ने इस्तीफे देने की बात तो किसी ने खराब मुख्यमंत्री होने का हवाला दिया। जिसके बाद सीएम ने यात्रा रद्द कर दिया।

अस्पताल पहुंचने में लगे सीएम को 17 दिन

वहीं एक अन्य ने निशानें पर लेते हुए कहा कि सीएम को इफ्तार पार्टी जाने का समय तो है, परन्तु अस्पताल पहुंचने में 17 दिन कैसे लग गए। इस बीमारी पर अभी तक कोई शोध तक नहीं हुआ है। जिसमें 10 साल से बच्चें मर रहे है।

केन्द्र सरकार ने दिया डाॅक्टरो को भेजने का निर्देश

बताते चलें कि मुजफ्फरपुर में मासूम बच्चें की हो रही मौत पर केन्द्र सरकार ने डाॅक्टरों की 5 टीम को भेजने का निर्देश दिया है। इसके साथ ही सुप्रीम कोर्ट ने दायर की गई याचिका पर सुनवाई करने की सहमति दे दी है। बताते चलें कि ये याचिका दो वकीलों ने कोर्ट में पेश किया है। जिसमें लिखा है कि सरकारी लापरवाही के कारण ये स्थिति उत्पन्न होती है। जहां हर साल होने वाली मौतों को अनदेखा किया जाता है।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here