पूर्वोत्तर भारत को जोड़ने वाली रेल परियोजना सकरी-निर्मली रेलखंड के मंडनमिश्र- सकरी- दरभंगा रेल सेवा का शुभारंभ 15 जून को, जल्द कोशी महासेतु होकर चलेगी रेल

0
2589

उत्तर भारत को पूर्वोत्तर से जोड़ने वाली अति महत्वपूर्ण माने जाने वाली सकरी- निर्मली रेल परियोजना के मंडन मिश्र हाल्ट तक ट्रेन चलाने का रास्ता साफ हो चुका है। 15 जून को झंझारपुर के सांसद रामप्रीत मंडल नई ट्रेन को मंडन मिश्र हाल्ट से दिन के 11 बजे हरी झंडी दिखाकर रवाना करेंगे। 15 जून को मंडन मिश्र हाल्ट -सकरी- दरभंगा के बीच नई ट्रेन का उद्धघाटन किया जाएगा। आप को बता दे कि सकरी से झंझारपुर तक आमान परिवर्तन कार्य पूर्ण हो चुका है और सहरसा से सुपौल के बीच बीते रविवार को मालगाड़ी का परिचालन किया गया था, 30 जून तक सरायगढ़ रेलवे स्टेशन तक ट्रेन चलाने की योजना है। झंझारपुर से कोशी महासेतु होकर निर्मली से सरायगढ़ तक रेल परियोजना का काम तेजी से चल रहा है। उम्मीद जताई जा रही है जल्द सहरसा से कोशी महासेतु होकर दरभंगा के लिए सीधी रेल सेवा बहाल होगी।

मंडन मिश्र हाल्ट तक नवंबर 2018 में चली थी ट्रायल इंजन

मार्च 2017 में इस रेलखंड का मेगब्लॉक लिया गया था। सकरी झंझारपुर निर्मली आमान परिवर्तन तक पहली ब्रॉड गेज रेल इंजन का ट्रायल पिछले साल नवंबर में मनीगांछी से मंडन मिश्र हाल्ट तक किया गया था। करीब 400 करोड़ की लागत से कोशी महसेतू की आधारशिला रखी गई थी। कोशी रेल महासेतु बन कर तैयार है और सकरी झंझारपुर निर्मली फारबिसगंज सहरसा आमान परिवर्तन का कार्य प्रगति पर है।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here