गांवे-घर में करिह जलढरिया हो बम : नीतू नवगीत का नया मगही गीत

0
341

सावन के महीने में बाबा बैजनाथ धाम, हरिहर नाथ धाम, गरीब नाथ धाम और सिद्धेश्वर नाथ धाम जाने वाले कांवरियों की संख्या लाखों में होती है और गीतकार एवं गायक ऐसे कांवरियों के लिए लोक भाषाओं में हर साल नए-नए गीत रिलीज करते हैं । लेकिन इस बार बात कुछ अलग है । वैश्विक महामारी कोविड-19 के प्रकोप के चलते अधिकांश प्रसिद्ध मंदिरों के दरवाजे भक्तों के लिए बंद कर दिए गए हैं और उनसे अपील की गई कि वे अपने घरों में रहकर ही पूजा-पाठ करें । लोक गायिका नीतू कुमारी नवगीत ने ऐसी परिस्थिति में गांवे-घर में करिह जलढ़रिया हो बम सावन गीत मगही भाषा में पेश किया है । मगही के प्रसिद्ध गीतकार अरुण गौतम ने इस गीत को लिखा है और रोहित स्वराज ने इसे संगीत से सजाया है । गीत को लोक गायिका नीतू नवगीत के यूट्यूब चैनल एनएन ऑफिशियल और फेसबुक पेज पर रिलीज किया गया है ।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here