नीतीश और गडकरी की मुलाकात, बिहार में राष्ट्रीय राजमार्गो के निर्माण में नहीं होगी कोई अर्चन

0
1571

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने नईदिल्ली में केंद्रीय सड़क परिवहन मंत्री नितिन गडकरी से मुलाकात की। यह मुलाकात नितिन गडकरी द्वारा कई मौकों पर बिहार सरकार पर आरोप के बाद हुई। मालूम हो गडकरी ने भूमि अधिग्रहण के मामले में बिहार सबसे पीछे रहने का एक बयान दिया था, उन्होंने कहा था अधिग्रहण के सुस्त रफ्तार के कारण वो चाहकर भी बिहार में सड़को का निर्माण कराने में असमर्थ है। इसके बाद केंद्रीय परिवहन मंत्री और बिहार सरकार आमने सामने आ गयी थीं। फिलहाल दोनों नेताओं की मुलाकात के बाद लंबे समय से आरोप प्रत्यारोप का दौर समाप्त हुआ और सड़क से जुड़ी विभिन्न समस्याओं को दूर कर लिया गया है। मुलाकात मे बिहार सरकार ने सड़को के निर्माण के लिए राज्य सरकार के तरफ से बालू, गिट्टी, पत्थर और अन्य निर्माण से जुड़ी सामग्रियों को उपलब्ध कराने में मदद करने का भरोसा दिया।

केंद्र और राज्य सरकार के इन मुद्दो पर सहमति ।

⚫केंद्र सरकार ने इससे पूर्व नई परियोजना शुरू करने के लिए कम से कम 90 फीसदी जमीन अधिग्रहण की शर्त रखी थी। लेकिन अब केंद्र सरकार इस बात पर राजी हो गई है, की राष्ट्रीय राजमार्ग पर 70 फीसदी भूमि अधिग्रहण के बाद भी सड़को का निर्माण कार्य शुरू किया जा सकता है ।

⚫पटना से बनारस के बीच बनेगी एक्सप्रेस वे। इसके साथ ही पूर्वांचल को दिल्ली से जोड़ने वाली सुपर हाई-वे का विस्तार पटना तक करने और इस कार्य को जल्द से जल्द शुरू करने की मांग की नीतीश कुमार ने ।

⚫केंद्र सरकार के इस पहल से बिहार में कई लंबित परियोजनाओं का कार्य शुरू हो सकता है। मालूम हो की उत्तर बिहार में भूमि अधिग्रहण न होने के कारण खगड़िया सहरसा पूर्णियां एनएच-107 डबल लेन सड़क का निर्माण अधूरा पड़ा है ।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here