दम तोड़ती जिंदगी,बेबस हालात? आखिर कब रुकेगा मौतों का कहर, 50 से ज्यादा बच्चों की गई जान

0
5391

बिहार के मुजफ्फरपुर में जिंदगी के आस लिए परिवरों की हर दिन टूट रही है उम्मीद की डोर, आज एक्यूट इन्सेफेलाइटिस सिंड्रोम जिसे चमकी बुखार भी कहते है इसका कहर ऐसा पसरा की हस्ते खेलते आंगन में अब उन 50 से ज्यादा बच्चों की आवाज नही गूंजेगी। हर साल होने वाली मौतों के स्थायी निदान के लिए कोई व्यवस्था नही की गई, आखिर ये रूकेगा कब, इसका कोई निदान ढूंढ पाने में क्यों असमर्थ है डॉक्टर?

बढ़ती गर्मी और लो ब्लड शुगर से हो रही बच्चों की मौते

मुजफ्फरपुर एवं इसके आस पास के इलाकों में पड़ने वाली भयंकर गर्मी से बच्चें एक्यूट इन्सेफेलाइटिस सिंड्रोम यानी चमकी बुखार के शिकार हो गए है। आप को बता दे कि राज्य सरकार इन मौतों का कारण चमकी बुखार नही बता रही, सरकार के अनुसार इन मौतों का कारण लो ब्लड शुगर जिसे हाइपोग्लाइसिमिया कहते है। हर साल बदलते मौसम और बढ़ती गर्मी से मौतों की संख्या बढ़ जाती है। अगर मुजफ्फरपुर के किसी अस्पताल में चले जायें तो हो रही मौतें ओर मां के चीखों की आवाज आप को झकझोर कर रख देंगी।

बीमारी के लक्षण

बीमारी के मुख्य लक्षण तेज बुखार, उल्टी-दस्त, शरीर मे मरोड़ और रह रह कर शरीर मे कंपन होना इसके मुख्य लक्षण हैं।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here