भारतीय वायुसेना की पहली महिला फाइटर पायलट बनी मोहना सिंह, मिशन को बखूबी अंजाम देने के काबिल।

0
590

भारतीय वायुसेना की पहली महिला लड़ाकू पायलट मोहना सिंह बन गई हैं। बता दें कि उन्हें यह उपलब्धि दिन में हाॅक एडवांस जेट में मिशन के काबिल बनने के बाद पूरा करने के लिए मिला है। पश्चिम बंगाल के कलाईकुंडा एयरफोर्स स्टेशन पर फाइटर प्लेन को एहतियातन लैंड कराया। जिसके साथ ही उनका ट्रेनिंग पूरा हो गया।

राॅकेट और बम गिराने का प्रशिक्षण पूरा

एडवांस जेट एयरक्राफ्ट को ट्रेनिंग पीरियड में 380 घंटे उड़ाया। जहां मोहना सिंह हवा और जमीन पर युद्ध मिशन के लिए पूरी तरह से तैयार है। मालूम हो कि मोहना को राॅकेट और हाई कैलिबर बम गिराने के साथ ही कई अन्य प्रशिक्षण दिया गया है। जिसमें हाॅक एयरक्राफ्ट एमके 132 जेट को इतने घंटे तक उड़ाया गया।

इससे पहले भावना कंठ भी शामिल

बताते चलें कि साल 2016 में फ्लाइंग आॅफिसर भावना कंठ , अवनी चतुर्वेदी और मोहना सिंह वायुसेना के फाइटर पायलट के रूप में शामिल हुई थी। बिहार के दरभंगा की रहने वाली भावना बीते दिनों 22 मई को मिशन पूरा करने वाली पहली महिला फाइटर बनी थी। जिनकी मिग-21 ‘बाइसन’ में दिन की ट्रेनिंग पूरी हो चुकी है। जहां पिछले साल ही लड़ाकू स्कवाड्रन में शामिल किया गया था।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here