मिथिला विश्वविद्यालय से एमबीए के साथ छात्रों का आईसीआईसीआई प्रूडेंशियल मे सलेक्शन, यूनिवर्सिटी में बढ़ता एमबीए का क्रेज

5
1993

दरभंगा: ललित नारायण मिथिला यूनिवर्सिटी के एमबीए विभाग में नामांकित एमबीए के छात्रो का क्रेज दिन व दिन बढ़ता ही जा रहा है ,विवि में साल 1991 में जब एमबीए की पढाई शुरू हुई तो कई जानकर लोग भी बहुत उत्साहित नहीं थे। शुरू में युवा भी दरभंगा में विश्वविद्यालय के इस कोर्स को लेकर बहुत उत्साहित नहीं दिख रहे थे। कई बार तो आवंटित 60 सीट भी विश्वविद्यालय नहीं भर पाती थी, लेकिन जब विभाग के शिक्षक पूर्व वीसी प्रो. एस ऍम झा एवम प्रो.एपी सिंह जैसे ख्यात पराप्त विदोयानो ने इसे मिशन के रूप में लेकर आगे बढ़ाया तो फैकल्टी मेंबर भी मेहनत करने लगे।


बदलता माहौल के साथ बढ़ा क्रेज

बदलते माहौल में यहाँ से पास आउट छात्रो को बाहर में नौकरी मिलने लगी तो इस संस्थान के प्रति और भी क्रेज बढ़ने लगा। दो सत्रो में करीब 60 छात्रो का कैंपस हुआ। पहले हालात ऐसे नहीं थे, सिमित संसाधन में छात्रों को बेहतर माहौल देने की कोशिश के बाद हालत बदलते चले गए। जहां शैक्षणिक सत्र 15-17 में कुल 23 तो 2016-18 में कुल 37 छात्रो का कैंपस सिलेक्शन हुआ है।

इन कंपनीयो ने किया कैंपस

मौजूदा सत्र 2016-18 में पांच कंपनीयो ने 37 छात्रौ का कैंपस सेलेक्शन किया है। इसमें करवी स्टॉक ब्रोकली हैदराबाद ने ढाई से तीन लाख के पैकेज पर 3 छात्रो का ,आइसीआई प्रोडेन्टिअल ने ढाई लाख के पैकेज पर 7, समस्ता माइक्रो फाइनेंस ने 3 लाख के पैकज पर 13 ,गुप्ता इंटेरप्राइस ने 10, वहीं शयम स्टील ने 4 छात्रो का सिलेक्शन किया।

5 कमेंट

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here