जदयू के उम्मीदवार उपसभापति का चुनाव जीते । प्रधानमंत्री ने कहा हरि की कृपा ।

0
794

नईदिल्ली: राज्यसभा मे आज उपसभापति के लिए मुकाबला मे सत्तापक्ष ने बाजी मार ली। मालूम हो की सत्तापक्ष के उम्मीदवार एनडीए की तरफ से हरिवंश थे, तो विपक्ष की तरफ हरिप्रसाद थे। सत्तापक्ष के पास बहुमत ना होने के बावजूद आज सत्ता पक्ष ने विपक्ष को उपसभापति चुनाव में मात दे दी। वोटिंग में एनडीए उम्मीदवार जेडीयू नेता हरिवंश को 125 वोट मिले, वहीं विपक्ष के उम्मीदवार बीके हरिप्रसाद को 105 वोट मिले। बता दें की 1977 से लगातार कांग्रेस का उम्मीदवार ही उपसभापति बनता था, इस लिहाज से एनडीए की ये जीत बेहद अहम मानी जारी है। चुनाव से पहले हरिवंश नारायण सिंह ने अपनी जीत पक्की मानी थी।

तीन बार वोटिंग करानी पड़ी ।

राज्यसभा में उपसभापति के लिए तीन बार वोटिंग हुई, एनडीए उम्मीदवार हरिवंश राज्यसभा उपसभापति चुनाव जीते। पहली बार वोटिंग में हरिवंश को 115 और बीके हरिप्रसाद को 89 वोट मिले, जबकि दो सांसद अनुपस्थित रहे। पहली बार वोटिंग में कुछ सांसदों के वोट रजिस्टर नहीं हो पाए, इसलिए दोबारा वोटिंग हुई। दोबारा वोटिंग में हरिवंश को 122 और बीके हरिप्रसाद को 98 वोट मिले। इसके बाद सांसदों को करेक्शन स्लिप दी गई, फाइनल नतीजों के मुताबिक एनडीए उम्मीदवार हरिवंश को 125 और बीके हरिप्रसाद 105 वोट मिले ।

कैसे जीत सुनिश्चित हुई

हरिवंश सिंह को टीआरएस, शिवसेना और बीजेडी का समर्थन मिला वहीं दूसरी तरफ आम आदमी पार्टी ,पीडीपी और वाईएसआर ने वोटो का बहिष्कार किया। वोटिंग के नतीजे आने के बाद प्रधानमंत्री ने नवनिर्वाचित उपसभापति हरिवंश को बधाई दी और कहा जिसपर हरि कृपा होती है, जीत उसकी ही होती है। प्रधानमंत्री ने कहा कि हरिवंश जी उस कलम के धनी हैं जिसने अपनी विशेष पहचान बनाई। मालूम हो की हरिवंश जी वाराणसी विश्वविद्यालय से पढ़ाई की, पूर्व प्रधानमंत्री चंद्रशेखर के साथ इनके अच्छे संबंध रहे थे।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here