अब पुलिस को नहीं दिखाना होगा आरसी और डीएल के पेपर, फोन बनेगा आप का स्मार्ट लॉकर

0
1019

नई दिल्लीः देश मे रोज सड़को पर दौड़ने वाले करोडों वाहनों के मालिक के लिए राहत बड़ी खबर आयी है, अब उन्हें अपने गाड़ियों के साथ उनसे जुड़े पेपर साथ रख कर चलने की अनिवार्यता समाप्त कर दी गई है। अब इनके जगह मोबाइल के डिजिटल वर्जन वाले कागजों के साथ वाहनों के मालिक बेफ्रिक हो सफर कर सकेंगे।

आईटी एक्ट 2000 के अनुसार डिजिटल पेपर्स को मिली कानूनी मान्यता

आईटी एक्ट 2000 के प्रावधानों के अनुसार अब डिजिटल पेपर्स को कानूनी रुप से मान्य मान लिया गया है, इसके तहत अब चालकों को ड्राइविंग लाइसेंस, रजिस्ट्रेशन सर्टिफिकेट (आरसी) या इंश्योरेंस के पेपर रखने की जरुरत नहीं होगी। आईटी एक्ट 2000 के अनुसार अब पेपर के डिजिटल वर्जन को दिखाकर चालक सफर कर सकेंगे। इसके लिए मंत्रालय ने एजवाइजरी जारी कर राज्यो को कहा है, की डिजीलॉकर और एमपरिवहन एप पर उपलब्ध डिजिटल पेपर्स अब मान्य होगें।

ट्रैफिक पुलिस और आरटीओ नहीं कर सकेगी परेशान

आईटी एक्ट 2000 का हवाला देते हुए ट्रैफिक पुलिस और राज्य के ट्रांसपोर्ट विभाग को केद्र सरकार ने निर्देश दिया है, की ड्रॉइविंग लाइसेंस, आरसी और इंश्योरेंस पेपर जैसे डिजिटल फार्मेट में मौजूद कागजात अब ओरिजनल कागजों के तरह ही मान्य होगें। नयी एजवाइजरी के बाद ट्रैफिक पुलिस और आरटीओ लोगों को इन कागज के डिजिटल पेपर्स दिखाने पर बेवजह परेशान नहीं कर सकेंगी। मालूम हो की वाहन मालिक डिजीलॉकर और एम परिवहन के एंड्रॉयड और विनडोज एप को अपने फोन पर डाउनलोड कर, इन डॉक्यूमेंट की डिजिटल कॉपी को स्टोर कर सकेंगे।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here