दरभंगा हरनगर रेल लाइन आंदोलन की भेंट चढ़ा । अनिश्चितकालीन के लिए रेल लाइन बंद

0
5694

दरभंगा । 12 अगस्त को ही रेलमंत्री पीयूष गोयल ने सकरी बिरौल हरनगर रेलखंड का उद्धघाटन के, एक हफ्ते बाद ही लोगों के आंदोलन के कारण इस रेल लाइन को अनिश्चितकाल के लिए बंद करना पड़ा । इसके साथ ही 9 साल बाद चालू हुई यह रेल खंड लोगो के आंदोलन की भेंट चढ़ गया है ।

हाल्ट बनाए जाने को ले उग्र आंदोलन

एक तरफ जहां लोगो को रेल तो चाहिए पर जब रेल शुरू हो गई तो, लोग लोग जगह जगह हाल्ट बनाने के नाम पर प्रदर्शन करने लगे । मालूम हो की नवादा गांव के नजदीक श्रमदान से बने जगदम्बा हाल्ट पर ट्रेनों के नियमित ठहराव नहीं होने और जगह जगह हाल्ट बनाने के नाम पर सवारी गडी 55578 को 10 घंटे तक रोक के रखा गया था। यह रेल लाईन हरनगर से दरभंगा को जोड़ती है। दरभंगा- हरनगर रेलखंड पर्यटकों के हिसाब से भी बहुत महत्वपूर्ण है, जो प्रसिद्ध बाबा कुशेश्वर स्थान मंदिर हरनगर से 7 किमी की दूरी पर अवस्थित है ।

Ad: GJ JEWELLERS, DARBHANGA

लंबे समय से हाल्ट बनाए जाने की मांग ।

महज दो किमी के भीतर दो स्थानों पर हाल्ट निर्माण करने की मांग का खामियाजा पूरे रेलखंड के यात्रियों को उठाना पड़ रहा है । लोगो का आरोप है की आपसी सहयोग से हाल्ट का निर्माण कराया गया था, रेलवे द्वारा ट्रेनों का 1 मिनट का ठहराव का लिखित आश्वासन मिलने के बाद रेलवे के मुकर जाने से लोगो में आक्रोश व्याप्त है । पिछले 3 दिनों से नवादा और बैंगनी के बीच हाल्ट निर्माण को लेकर उग्र आंदोलन चल रहा है । रेलखंड चालू होने के बाद से ही तीन हाल्ट निर्माण की मांग की जा रही है। जिनमे से एक मीनगाछी प्रखंड के भुवनेश्वरी दुर्गा मंदिर के निकट गोपालपुर में ,दूसरा बैंगनी में तथा तीसरा जगदम्बा हाल्ट नवादा में शामिल है । रेलवे ने इस आंदोलन की उग्रता देखते हुए 16 अगस्त से इस रेलखंड को अगले आदेश तक के लिए बंद कर दिया गया ।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here