गरीब रथ बीते दिनों की बात हो जाएगी । हमसफ़र एक्सप्रेस में बदलने की तैयारी

4
7616

पटना: जब पहली बार 2005 में गरीब रथ चली थी, तो नारा था की “अब गरीब मजदूर भी एसी में सफर कर सकेगा “। ये उस समय का सबसे बड़ा फैसला था, जिसने इतिहास लिखा। इसके तहत गरीबों के लिए एक ऐसी ट्रेन को चलाया गया, जो भारत के इतिहास में सुपरहिट हो गई। 2005 में तत्कालीन रेलमंत्री लालू प्रसाद यादव ने जब इस ट्रेन को हरी झंडी दिखाई तो सहरसा से अमृतसर के लिए ही  नहीं, इस ट्रेन की मांग देश भर से होने लगी थी। तब ना सोशल मीडिया था, और ना ही लोगो के पास स्मार्टफोन हुआ करता था। फिर भी इस ट्रेन का तब से लेकर आज 13 साल बाद भी लोगो में क्रेज बरकरार है, टिकटों कि मारामारी आज भी इस ट्रेन में वैसे ही रहती है। किराया कम और सुविधाएं किसी भी प्रीमियम ट्रेन से ज्यादा बेहतर होने के कारणों से, लोगों का आज भी पंसदीदा विकल्प रहा है।

गरीब रथ के जगह हमसफ़र एक्सप्रेस से होगा सफर

फिलहाल रलवे बोर्ड के निर्णय के बाद अब सभी गरीब रथ की बोगियों को हमसफ़र एक्सप्रेस की बोगियों में बदलने की तैयारी शुरू कर दी गई है। धीरे धीरे देश में चलने वाली सभी गरीब रथ की बोगियों को हमसफ़र एक्सप्रेस में बदल दिया जाएगा, इसके किराए को लेकर रेलवे बोर्ड फैसला करेगा। माना जा रहा है की कुछ महीनों तक पुराने गरीब रथ के किराए पर ट्रेन चलेगी, फिर इसके किराए में बढ़ोतरी की जाएगी। रेलवे ने सबसे पहले चेन्नई निजामुद्दीन तक चलने वाली गरीब रथ की बोगियों को बदलने का फैसला किया है, उसके बाद भागलपुर से चलने वाली गरीब रथ की बोगियों को हमसफ़र एक्सप्रेस से बदला जाएगा। जयनगर- नयी दिल्ली गरीब रथ को भी क्रमशः समय के साथ हमसफर का रूप दे दिये जाने की संभावना है।

4 कमेंट

  1. Y janta ke sath bishbas ghat h, jo garibo ko diya gaya bo v chin liya gaya, bhada kam hone se middle class and poor man chadhta h, rajnetic se aap iska rate bada dege or aam admi ka patta saf ho jaeyga. Garibo ki mashiha laloo yadav h, baki gariboo ko khun chusena bala neta h.

  2. Y janta ke sath bishbas ghat h, jo garibo ko diya gaya bo v chin liya jayga, Bhadda kam hone se middle class and poor man chadhta h, rajnetic se aap iska rate bada dege or aam admi ka patta saf ho jaeyga. Garibo ki mashiha laloo yadav h, baki gariboo ko khun chusena bala neta h.

    Aap se nebedan h ki aap tabdil kare, lekin fair same rakhe

    Satyam kumar

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here