गरीब रथ के कोचों को बदलकर लगाया जाएगा हमसफर एक्सप्रेस का कोंच, यात्रियों का सफर होगा महंगा

0
1996

मध्यमवर्गीय लोगों के लिए चलाए जा रहे गरीब रथ एक्सप्रेस का किराया आने वाले दिनों में और भी बढ़ सकता है। जिससे गरीबों की जेबों पर अतिरिक्त बोझ पड़ेगा। बताते चलें कि रेलवे ने कारखाने में गरीब रथ एक्सप्रेस के कोचों को बनाना बंद कर दिया है। और इसकी जगह पर हमसफर एक्सप्रेस के कोच को लगाने का फैसला लिया है।

गरीब रथ के कोच अब बनना बंद

मालूम हो कि नए कोच लगने के साथ ही इसका किराया काफी बढ़ जाएगा। वहीं इसको लेकर रेल प्रशासन का कहना है कि गरीब रथ को बंद नहीं किया जा रहा है, बल्कि हमसफर एक्सप्रेस का कोच लगाकर यात्री सुविधाओं को बढ़ाया जा रहा है। बता दें कि हमसफ़र एक्सप्रेस का सहरसा से दिल्ली तक का किराया 1705 से 2535 रुपए है। वहीं गरीब रथ पूरे एसी बोगी का किराया 980 रुपया है।

देश में पहली गरीब रथ एक्सप्रेस सहरसा-अमृतसर के बीच चली

बताते चलें कि देश में पहली गरीब रथ साल 2006 में सहरसा से अमृतसर के लिए चलाई गई थी। सप्ताह में तीन दिन चलने वाले इस ट्रेन में टिकटों के लिए सालों भर मारामारी मची रहती है। वहीं सहरसा चंपारण हमसफर एक्सप्रेस में गरीब रथ से अधिक सुविधाएं रहने के बावजूद कंफर्म टिकट के लिए भीड़ नहीं होती।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here