कोशी की भाग्य बदल देगा बल्हुआ पुल ।

0
3644

सहरसा/दरभंगा कोसी महासेतु निर्मली के तरह दरभंगा की भविष्य की लाइफ लाइन कोसी महासेतु बलुआ, जो दरभंगा-सहरसा (190 किलोमीटर)100 किलोमीटर की दूरी को घटा के मात्र 92 किलोमीटर कर देगी। इस साल से यातायात के लिए पुल के खुलते ही दरभंगा से सुपौल, मधेपुरा, पुर्णिया की दूरी में 100 से 150 किलोमीटर की कमी आजायेगी। बिरौल से गंडोल तक बन रहे एप्रोच रोड का काम तेज गति से चालू हैं, जिसका गेमन इंडिया निर्माण कर रही हैं।

15मीटर चौड़े और 2 किलोमीटर लंबी कोसी महासेतु बलुआ का हुआ है निर्माण

नये स्टेट हाईवे के जरिए कोसी महासेतु बलुआ होकर सहरसा से दरभंगा की दूरी 92 किलोमीटर रह जायेगी, वहीं सुपौल, मधेपुरा, पुर्णिया की दूरी भी सिमटेगी। 2.2 किलोमीटर लंबी, तीन लेन वाली (15.5 मीटर चौड़ी, दोनो तरफ 1.5-1.5 मीटर फुटपाथ सहित) कोसी महासेतु का बिहार राज्य पुल निर्माण निगम लिमिटेड ने 2012 में समय सीमा से पहले ही निर्माण किया था। पर एप्रोच रोड के निर्माण मे देरी के कारण अभी तक इसे यातायात के लिए खोला नही जा सका है। एप्रोच रोड के निर्माण मे देरी से नाराज हो कर गेमन इंडिया पर जुर्माना भी लगाया गया, जिसके बाद काम ने रफ्तार पकड़ा था।

कुछ मीटर निर्माण शेष

फिलहाल कुछ मीटर ही सड़क निर्माण शेष रह गया है, बरसात के कारण मिट्टी भराई का कार्य में धीमी गति आने के कारण मार्ग चालू होने में दिसंबर तक का समय लग सकता है। मालूम हो की अभी सहरसा पहुँचने के लिए लोगों को, 200 किलोमीटर तक का सफर तय करना पड़ता हैं।

पटना को खुलेगा नया रास्ता

इस रास्ते ना सिर्फ सहरसा-92 किलोमीटर,सुपौल- 112 किलोमीटर, मधेपुरा-117 किलोमीटर, पुर्णिया-202 किलोमीटर रह जायेगा, वही सहरसा, सुपौल, मधेपुरा, पुर्णिया से लोग इस महासेतु हो कर पटना भी जल्द पहुँच सकेंगे। इस पथ के खुलते ही आर्थिक केंद्र के रूप में दरभंगा को और मजबूती मिलेगी। इस मार्ग के खुल जाने के बाद कोशी और मिथिलांचल इलाके में विकाश की नई ऊंचाइयां लिखेंगी ,आप को बता दे की इस इलाके में मक्का, गेहूं,मखाना,दलहन की अच्छी पैदावार होती है ,साथ ही मछली व्यवसाय भी इस कोशी की पहचान है, यातायात चालू होने से यहां के बाजारों में रौनक बढ़ेगी । पर्यटन के क्षेत्र में मिथिला नगरी पूरे जग में विख्यात है, मिथिला की संस्कृति को देश विदेशो से आने वाले पर्यटक जान पाएंगे ।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here