बिहार में मॉनसून की बारिश कहर बन कर टूटा लोगों पर, मधुबनी-सीतामढ़ी-सुपौल में बाढ़ ने मचाई आफत।

0
5264

उत्तर बिहार में मॉनसून की सक्रियता बढ़ने के साथ ही लगभग एक सप्ताह से लगातार बारिश हो रही है। वहीं नेपाल से कई क्यूसेक पानी छोड़े जाने के कारण कई जिलों में अचानक से पानी प्रवेश कर गया है। बाढ़ तथा बारिश को देखते हुए सीतामढ़ी, शिवहर, मोतिहारी, अररिया में सभी स्कूल-काॅलेजों को डीएम ने बंद करने का निर्देश दिया है। बता दें कि कई जगहों पर सुरक्षा बांध टूट जाने से स्थिति और भी नाजुक हो गई है। नेपाल स्थित कोशी बराज में से 3 लाख 77 हजार क्यूसेक पानी, 56 में से 40 फाटक खुले रेड अलर्ट जारी, नेपाल में हो रही भारी बारिश से सुपौल सहरसा में मच सकती है तबाही, कई प्रखंड हुए जलमग्न।

बिहार के इन जिलों में बाढ़ का कहर

नेपाल में भारी बारिश होने तथा वहां की पहाड़ी नदियों में अधिक पानी आ गया है। जिससे नेपाल के सीमावर्ती इलाकों में बांधों के टूटने एवं नदियों के उफान पर रहने से कितने ही घरों में पानी घुस गया है। लोग त्राहिमाम हो रहे है। बिहार के इन जिलों मधुबनी, सीतामढ़ी, शिवहर, पूर्वी चंपारण, सुपौल, सहरसा किशनगंज, अररिया में बाढ़ का कहर बढ़ता ही जा रहा है। बाढ़ से स्थिति बेकाबू हो रही है।

पानी का विकराल रूप देख लोगों में दहशत

लगातार हो रही बारिश से लोगों का जनजीवन अस्त-व्यस्त हो गया है। और इस सबसे अछूता शहर भी नहीं रहा है। बता दें कि दरभंगा के निचले इलाकों वाले घरों में बारिश के पानी घुस गया है। लोग घर छोड़ कर पलायन करने पर विवश हो रहे है। वहीं मधुबनी, सीतामढ़ी के गांवों में अचानक बाढ़ का पानी घुसने से हजारों हेक्टेयर में लगी फसल बर्बाद हो गया है। जहां पानी की विकराल रूप देख कर लोगों में दहशत फैल गया है।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here