केरल में खतरनाक हुए बाढ़ से हालात, कोच्चि एयरपोर्ट हुआ जलमग्न।

0
1453

केरल: पिछले कई दिनों से हो रही मूसलाधार बारिश ने राज्य में जन जीवन को अस्त व्यस्त कर दिया हैं, प्राकृतिक आपदा से जूझ रहे केरल मे अब तक सौ लोगों के जान से हाथ धोने की सूचना हैं। बारिश और बाढ़ के प्रभाव से बड़ी आबादी प्रभावित हुई हैं, साथ ही कई लोग बेघर हो गये है।
1924 के बाद यह अब तक का सबसे प्रलयंकारी बाढ़ माना जा रहा है।

कोच्चि एयरपोर्ट 26 तक किया गया बंद

केरल के विपरीत परिस्थितियों से यहां का एयरपोर्ट भी अछूता नहीं है, कोच्चि स्थिति एयरपोर्ट पर पानी भर जाने के कारण एयरपोर्ट से उड़ाने स्थगित कर दी गई हैं। फिलहाल एयरपोर्ट को 26 अगस्त तक के लिए बंद किया जा चुका हैं। बाढ़ की विभीषिका से त्रस्त केरल मे राहत और बचाव के लिए करीब 2857 राहत शिविरों की स्थापना की जा चुकी है, जिन में बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों से करीब पौने दो लाख लोगों को तत्काल स्थानांतरित किया गया है।

औसत से अधिक वर्षा से पैदा हुए बाढ़ जैसे हालात

मौसम विभाग के अनुसार इस साल औसत से ज्यादा वर्षा के कारण ऐसे हाल पैदा हुए हैं, जिसमें 208 सेंटीमीटर बारिश को रिकॉर्ड किया जा चुका है। मालूम हो की केरल में अगस्त मध्य तक बारिश का औसत 160 सेंटीमीटर रहता है, फिलहाल अत्याधिक बारिश के कारण केरल के सारे डैम जल से लबालब हैं। बिगड़े हालात मे अधिकतर स्थानो का संपर्क अस्त व्यस्त हो गया है, वही स्कूल और कॉलेजों को अगले आदेश तक के लिए स्थगित कर दिया गया है। बाढ़ के कारण पूरे राज्य में विद्युत आपूर्ति, संचार प्रणाली, पेयजल आपूर्ति बाधित है। अतिरप्पली, पोनमुढी और मन्नार समेत कई बड़े पर्यटन केंद्र पर्यटकों के लिए बंद किये जा चुके है, मौसम विभाग की ओर से जारी चेतावनी मे अभी और भी बारिश की संभावना जताई जा रही हैं। मौसम विभाग ने बारिश के साथ तूफान की भी आशंका जाहिर की गई है, जिसको देखते हुए 12 जिलों को एलर्ट पर रखा गया है।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here