पाकिस्तान से वापस लायी गई मूकबधिर गीता को लेकर, फिर एक बिहारी परिवार ने किया अपनी बेटी होने का दावा।

0
375

मूक-बधिर गीता के पाकिस्तान से वापस आने के बाद देश भर से कई परिवारों ने, अपनी बेटी होने का दावा किया था। लेकिन इसके बावजूद भी गीता को अब तक अपना परिवार नहीं मिला। बताते चलें कि पूर्व विदेश मंत्री सुषमा स्वराज के काफी प्रयासों के बाद गीता को पाकिस्तान से वापस भारत लाया गया था। जिसके बाद से उसके परिवार की खोज लगातार जारी है। मालूम हो कि हाल ही में सुषमा स्वराज का निधन हो गया है। ऐसे में गीता ने कहा कि वो अकेला महसूस कर रही है और अनाथ हो गई है।

22 साल पहले हुई थी गायब

बताते चलें कि फिर से गीता को अपनी बेटी होने का दावा, बिहार के एक परिवार ने किया है। औरंगाबाद के अनुंदुआ गांव निवासी विश्वनाथ सिंह ने बीडीओ को आवेदन देते हुए कहा कि, उनकी बेटी 22 साल पहले गायब हो गई थी। जब उनका पूरा परिवार एक शादी में शरीक होने के लिए गया हुआ था। जिसके बाद से आज तक अपनी बेटी की तलाश कर रहे हैं।

आगे की कार्यवाही को लेकर डीएम के पास आवेदन

टीवी न्यूज चैनल पर जब गीता की तस्वीर देखी, तब उन्हें लगा कि यही उनकी गुमशुदा बेटी बबली है। वहीं इसको लेकर उन्होंने जांच कराने की भी बात कही है। साथ ही डीएनए टेस्ट कराने को भी तैयार है। आगे की कार्रवाई के लिए डीएम के पास बीडीओ ने आवेदन को भेज दिया है। ताकि इस पर कार्यवाही की जा सके।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here