सहरसा जंक्शन के सरकुलेटिंग एरिया में लगेगा इंजन,सुपौल रैलखंड में बढ़ेगी ट्रेनों की संख्या

0
5115

समस्तीपुर मंडल रेल प्रबंधक अशोक माहेश्वरी ने सहरसा जंक्शन का निरीक्षण किया। 17 जनवरी को जीएम वार्षिक निरीक्षण करेंगे, इसी तैयारियों का जायजा लेने सहरसा जंक्शन पंहुचे। सबसे पहले डीआरम रेलवे कॉलोनी स्थित लोकों पायलट और गार्ड के लिए रनिंग रूम में दी जा रही सुविधओं और सुधार का निर्देश दिया। इसके बाद उन्होंने रेल के अन्य अधिकारियों के साथ सरकुलेटिंग एरिया का निरीक्षण किया और वहां टिकट काउंटर के पास कुर्सियां लगवाने का आदेश दिया जिससे कि लाइन में लगे यात्रियों को राहत मिल सके। इसके साथ ही व्हील चेयर की व्यवस्था करने की बात कही ताकि यात्रियों को इधर उधर भटकना न पड़े। सभी प्लेटफार्म पर पानी के बूथ और बैठने के लिए स्टील की कुर्सियां लगाई जाएंगी।

17 जनवरी को जीएम लिफ्ट और टिकट विंडो का करेंगे उद्धघाटन

पूर्व मध्य रेलवे के जीएम सहरसा निरीक्षण के दौरान सहरसा जंक्शन के प्लेटफार्म सांख्य 1 और 2 पर स्थित लिफ्ट का उद्धघाटन करेंगे। इसके अलावे प्लेफॉर्म नंबर 5 के पास पूर्वी क्षेत्र से में स्थित नए टिकट बुकिंग काउंटर का शुभारंभ करेंगे। 17 को प्लेटफार्म संख्या 2 और 3 के बीच बन रहे ग्रीन पैच का उद्घटान होगा जहां पौधे लगाए जाएंगे जिससे स्वच्छ ऑक्सीजन मिल सके और यात्री स्टेशन पर अच्छे वातावरण का लुफ्त उठा सके।

सहरसा जंक्शन पर इंजन लगाने की योजना।

डीआरम ने कहा कि सहरसा जंक्शन पर आने वाले दिनों में इंजन लगाया जाएगा। इसके अलावा लोहट चीनी मिल सकरी में पड़े रेल इंजन को लेने की कोशिश की जा रही है और उन्होंने कहा कि नेपाल में नैरो गेज के इंजन है उसे भी लिया जाएगा और सहरसा सुपौल जैसे स्टेशनों पर लगाया जाएगा।

सुपौल रेलखण्ड पर बढ़ेंगी ट्रेन

डीआरएम ने कहां की कोशी महासेतु तक ट्रैक लिंकिंग का कार्य पूरा कर लिया गया है। अगले तीन से चार दिनों में ट्रेन कोशी महासेतु होकर गुजरेगी। इसके साथ उन्होंने कहा कि जैसे जैसे रेल लाइन का विस्तार होगा ट्रेनें बढ़ेंगी। उन्होंने कहा कि फारबिसगंज रेल लाइन चालू होने के बाद पहले चलने वाली सभी ट्रेनों को चलाया जाएगा। मार्च से कोशी महासेतु होकर चलने लगेंगी ट्रेनें। आने वाले दिनों में सुपौल से ट्रेनों की संख्या बढ़ेगी।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here