पूर्वोत्तर से दिल्ली दूरी कम करनेवाली दरभंगा रेल बाईपास के लिए इस बजट नहीं हुआ प्रयाप्त धन आंवटित, मिले इतने रूपए।

1
2506

दरभंगा मे प्रस्तावित ककरघट्टी से सिसो हाल्ट के बीच बनने वाले रेल लाइन पर सरकार की नजरें इनायत ना हो सकी, मौजूदा वित्त वर्ष मे इस बाईपास के नाम पर सरकार ने खानापूर्ति की औपचारिकता निभाई। बताते चले की करीब 10 किलोमीटर लंबा बाईपास बनने से गोरखपुर की ओर से नरकटियागंज सीतामढ़ी होकर जानेवाली मालगाड़ी, मेल और एक्सप्रेस ट्रेनें सीधे कोसी महासेतु होकर न्यू जलपाईगुड़ी (एनजेपी), गुवाहाटी तक जाएंगी। यह रास्ता दिल्ली- पूर्वोत्तर के मौजूदा किसी भी रेल रास्ते से कम दूरी का होगा।

लबें इंतजार के बाद मिली थी मंजूरी, मिले 17 लाख

लंबे इन्तेजार के बाद दरभंगा में बनने वाले रेल बाईपास की मंजूरी मिली थी, हाल के वर्षों में ही रेलवे बोर्ड ने इस परियोजना को हरी झंडी दिखाई थीं। 300करोड़ की इस परियोजना को इस वित्त वर्ष सिर्फ 17 लाख की राशि ही आंवटित हो सकी। इस रेल लाइन के निर्माण के लिए पहले चरण में रेलवे द्वारा भूमि अधिग्रहण का कार्य होना है।

300 करोड़ की लागत से बनना है दस किलोमीटर रेल लाइन

बताते चलें की ककरघट्टी से सिसो हाल्ट तक रेलवे इस बाईपास के अंतर्गत दस किलोमीटर लंबी डबल रेल लाईन का निर्माण करने वाली है, इससे दिल्ली से पूर्वोत्तर जाने में लगने वाले समय की बचत होगी। योजना के तहत सीतामढ़ी से जयनगर,न्यू जलपाईगुड़ी जाने वाली ट्रेनों को दरभंगा जंक्शन नही जाना होगा और ना ही इंजन बदलने का झनझट होगा, ये ट्रेन सीधे बाईपास होकर जयनगर और न्यू जलपाईगुड़ी की ओर जाएंगी।

1 कमेंट

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here