बिहार के दरभंगा में टेलर मास्टर की बेटी अब बनेगी डॉक्टर,पिता के लिए गर्व की बात

0
19472

बेंता निवासी टेलर रहमान जी गर्व से फूले नहीं समा रहे है, और ठीक यही स्थिति है शहर के एक दर्ज़न से ज्यादा माता-पिता का। ग़ौरतलब है कि नीट मेडिकल प्रवेश परीक्षा की काउन्सलिंग विगत शनिवार को समाप्त हो गयी और समाप्त होने के साथ शहर को दे गयी दर्जनों डॉक्टर। खानकाह चौक और नाग मंदिर के बीच स्थित शहर के प्रतिष्ठित मेडिकल कोचिंग ग्रे मैटर:-ए प्रीमियर इंस्टिट्यूट फॉर नीट/एम्स के डायरेक्टर डॉक्टर अनिकेत श्रीवास्तव ने बेहद गर्व के साथ बताया कि ग्रे मैटर का प्रदर्शन बेहद शानदार रहा।

नीट के टारगेट बैच के सभी 55 छात्रों ने नीट में क्वालीफाई किया था।

नीट 2019 में टारगेट बैच के 55 में से 55 छात्रों ने नीट में क्वालीफाई किया, तथा 9 छात्रों को सरकारी मेडिकल कॉलेज मिला। इंस्टिट्यूट के फरकंदा जावेद पुत्री जनाब जावेद अहमद जी को पटना मेडिकल कॉलेज,कायनात परवीन पुत्री जनाब मोती-उर-रहमान को नालंदा मेडिकल कॉलेज, मीना पुत्री श्री किशोरी यादव को दरभंगा मेडिकल कॉलेज,आयुष अमन पुत्र श्री डॉ अर्जुन साहनी को skmch मुज़फ्फरपुर, कुमार अमन पुत्र श्री जगत नारायण यादव को JLNMCH भागलपुर, सुप्रज्ञा पुत्र श्री सुनील कुमार चौधरी को PGIMSR बंगलौर,राजलक्ष्मी पुत्री श्री अमरनाथ पूर्वे को नार्थ बंगाल मेडिकल कॉलेज,सिलीगुड़ी,अनुराग सिंह पुत्र श्री राम सागर सिंह को IMS BHU मिला है।

डॉ.अनिकेत ने बताया कि इंस्टिट्यूट की ये अब तक कि सबसे बड़ी उपलब्धि है और ये रिजल्ट बच्चों के माता-पिता,इंस्टिट्यूट व इंस्टिट्यूट के फैकल्टी के लिए गर्व के विषय हैं तथा शहर के सभी मेडिकल एस्पिरेंट के लिए प्रेरणा सन्देश के कि कड़ी मेहनत और बेहतर मार्गदर्शन का विकल्प कुछ भी नहीं हैं।इस रिजल्ट को इंस्टिट्यूट के फैकल्टी और और स्टूडेंट्स सन्देश के तौर और ले रहे है और अगले साल नया इतिहास लिखने में जुट गए हैं।डॉ. श्रीवास्तव ने कहा हमें गर्व होगी शहर में अधिकाधिक डॉक्टर प्रोड्यूस कर। टारगेट फ़ॉर नीट की आखिरी बैच 8 सितंबर से शुरू होनी हैं!!

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here