दानापुर मंडल मे पहली बार पूरी मालगाड़ी का महिलाओं ने किया परिचालन, गार्डस से ले लोको पायलट तक पूरी क्रू महिलाओं के हाथ।

0
1510

महिला के सशक्तीकरण के दौर में फिर एक कहानी लिखी गयी हैं, पूर्व मध्य रेल के गया से मुगलसराय तक महिला गार्डो द्वारा ट्रेन चलाने के बाद दानापुर में पूरी की पूरी मालगाड़ी का ही संचालन महिलाओं के हाथ रहा। पूरे ट्रेन मे लोको पायलट और को लोको पायलट की भूमिका में सोनी कुमारी और विभा कुमारी रही, जो भारतीय रेलवे के इस जोन की पहली महिला पायलट और को पॉयलट है। वहीं महिला गार्ड में स्वाती सौरभ ने अग्रणी भूमिका निभाई।

पिछले शुक्रवार को दानापुर मे लिखा गया नया इतिहास

महिला सशक्तीकरण को बढ़ावा देने के लिए प्रयोग के तौर पर दानापुर मंडल में गुड्स ट्रेन (मालगाड़ी) का संचालन लड़कियों के द्वारा शुरू कराया गया है। पिछले शुक्रवार को दानापुर रेल मंडल के दानापुर स्टेशन पर डीआरएम आरपी ठाकुर की मौजूदगी में महिला गार्ड, लोको पायलट व सहायक पायलट मालगाड़ी 1बजकर 10मिनट पर दानापुर जंक्शन के प्लेटफार्म नंबर दो से रवाना हुई। करीब 31 किमी की दूरी तय कर के मालगाड़ी 14.35 बजे फतुहा पहुंचीं।

गार्डस के रूप मे महिलाओं ने निभाई डयूटी

पूरी ट्रेन की खासियत यह रही की इस को चलाने के लिए केवल पायलट और को पायलट ही महिलाएं नहीं है, बल्कि इस ट्रेन की गार्ड भी महिला ही हैं। फिलहाल नयी व्यवस्था से पूरी ट्रेन को चला इन महिलाओं ने हर उन तमाम महिलाओं की ताकत को पंख दी हैं, जो अपने जीवन में कुछ शानदार करने का हौसला रखती हैं।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here