किउल से भागलपुर इलेक्ट्रिक रेल इंजन का ट्रायल रहा सफल, 120 की रफ्तार से दौरी ट्रेन

0
970

किउल से भागलपुर के बीच विद्युतीकरण कार्य पूर्ण होने के बाद पहली बार पूर्वी जोन के मुख्य संरक्षा आयुक्त लतीफ खान ने किउल से भागलपुर के बीच 120 की रफ्तार से ट्रेन दौड़ाकर इलेक्ट्रिक रेल इंजन का सफल परीक्षण किया। 12 बोगियों की सीआरएस स्पेशल ट्रेन ने किउल से जमालपुर के बीच में 46 किमी की दूरी 39 मिनट में पूरी की। सीआरएस स्पेशल ट्रेन किउल से भागलपुर के बीच दोपहर 3 बजे के करीब किउल से भागलपुर के बीच 98 किमी की दूरी महज 90 मिनट में पूरी की। सीआरएस निरीक्षण पूर्ण होने के बाद जल्द ही इलेक्ट्रिक रेल इंजन चलने की उम्मीद बढ़ गई है। सीआरएस इलेक्ट्रिक इंजन चलाने के लिए रेलवे बोर्ड को रिपोर्ट भेजेंगे, मंजूरी मिलने के बाद से इस रेलखंड पर इलेक्ट्रिक इंजन की ट्रेनों का परिचालन शुरू हो जाएगा।

मार्च से चलेगी किउल भागलपुर के बीच इलेक्ट्रिक रेल इंजन

मार्च से ही रेलवे भागलपुर से किऊल के बीच इलेक्ट्रिक इंजन से ट्रेनें चलाएंगी। डीजल इंजन होने की बजह से भागलपुर से खुलने वाली ट्रेनों का इंजन किऊल या पटना में बदलना पड़ता था जिससे ट्रेनों को आधे घंटे तक स्टेशनों पर रोका जाता है। इलेक्ट्रिक रेल इंजन लगने के बाद ट्रेनों की गति बढ़ेगी और 2 घंटे तक की समय की बचत होगी। विक्रमशिला एक्सप्रेस ट्रेन में सबसे पहले इलेक्ट्रिक इंजन लगाकर ट्रेनों का परिचालन शुरू किया जाएगा।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here