हाई स्कूल की गिरती शैक्षणिक व्यवस्था, धरोहरों की उपेक्षा और आधारभूत संरचना की दयनीय स्थिति के लिए चेंज फ़ॉर श्योर का हल्ला बोल

0
194

सोनबरसा । आज चेंज फ़ॉर श्योर के सदस्यों ने हाई स्कूल की गिरती शैक्षणिक व्यबस्था और कुव्यवस्था के खिलाफ हाई स्कूल प्राचार्य को एक विज्ञप्ति सौंपा, जिसमें ग्रीष्मावकाश के तुरंत बाद इन सभी व्यवस्थाओं को तुरंत सही करने को कहा गया ।

विगत कुछ महीनों से संस्था के पास हाई स्कूल में गिरती शैक्षणिक व्यवस्था और कुव्यवस्था के खिलाफ बड़ी संख्या में शिकायत आयी है । बच्चों की शिकायत है कि कक्षा में प्राध्यापक पूरी घँटी नही लेते है, असमय छुट्टी कर दी जाती है, विद्यालय में एक अदद शौचालय नही है, पानी का हैंडपंप भी खराब रहता है तथा शिक्षकों का बर्ताव भी छात्रों के प्रति ठीक नही रहता है । इसके अलावा अभिभावकों की ये शिकायत रहती है कि प्रचार्य खुद विद्यालय से गायब रहते हैं, जिससे विद्यालय सम्बंधी कार्यों में दिक्कत होती है । विद्यालय प्रबंधन की मीटिंग भी विगत दो वर्षों में एक बार भी नही हुई है ।

इसके अलावे सोनबरसा के महाराज हरिबल्लभ नारायण सिंह की स्मृति स्वरूप एक मात्र विद्यालय बर्बादी के कगार पर खड़ा खंडहर बनने जा रहा है जिसके रखरखाव के लिए विद्यालय प्रशासन बिल्कुल उदासीन बैठा है ।

इस आवेदन के माध्यम से चेंज फ़ॉर श्योर ने अनुरोध किया कि विद्यालय की गिरती शैक्षणिक व्यवस्था में जल्द से जल्द सुधार कर आधारभूत संरचनाओं की तुरन्त दुरुस्त करें । उपरोक्त माँग अगर उक्त समय मे पूरी नही होती है तो हम चेंज फ़ॉर श्योर के सदस्य ग्रमीणों के सहयोग से उग्र आंदोलन के लिए बाध्य हो जायेंगे और इसकी पूर्ण रूप से जिम्मेवारी विद्यालय प्राचार्य की होगी ।

ज्ञात हो कि चेंज फ़ॉर श्योर एक सामाजिक संस्था है, जो विगत तीन वर्षों से सोनबरसा के सामाजिक, शैक्षणिक और वैचारिक उत्थान के लिए कार्य कर रहा है । संस्था ने रक्तदान के मामले में भी कोशी में एक मिसाल कायम किया है । इस मौके पर मनीष कुमार ,तपेश प्रसाद जायसवाल, सुनील कुमार भानु, आनंद वर्मा, गोविंद कुमार,रोहित चौधरी, शुभम भारती, सत्यम ठाकुर,कुंदन कुमार, मिट्ठू कुमार, अभिनव सौरव,आशीष आनंद, दीपक राठौर, अमित कुमार टिंकू,अमन कुमार,

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here