बीपीएससी परीक्षा करनी है पास तो अपनाएं ये तरीके

0
1983

पटना: अगर सही तरीके से रणनीति बनाकर बीपीएससी की परीक्षा की तैयारी की जाए तो कामयाबी जरूर मिलेगी। तैयारी करते समय छात्र जो पढ़ रहे है वह परीक्षा के लिए महत्वपूर्ण है या नहीं, इसका आकलन उन्हें करना चाहिए। बीपीएससी प्रारंभिक परीक्षा में पूछे जाने वाले प्रश्नों के बारे में जान लेना आवश्यक हैं, बीपीएससी की प्रारंभिक परीक्षा में ऑब्जेक्टिव टाइप के प्रश्न पूछे जाते है। जिसमे सवालों कि संख्या 150 होती है और समय 2 घंटे निर्धारित किए गए है। प्रारंभिक परीक्षा केवल क्वालीफाइंग होता है, मुख्य परीक्षा में इसके मार्क्स जोड़े नहीं जाते। मुख्य परीक्षा में हिंदी,सामान्य अध्ययन के दो पेपर होते है और एक वैकल्पिक विषय की परीक्षा होती हैं। हिंदी का मार्क्स क्वालीफाइंग होता है, जिसमे 30 अंक लाना जरूरी है। बाकी सामान्य अध्यन के दोनों पेपर 300-300 मार्क के होते है, और वैकल्पिक विषय भी 300 का। कुल 900 मार्क्स के परीक्षा में जो परीक्षार्थी चयनित होंगे ,उन्हें साक्षात्कार के लिए बुलाए जाएगा।

बीपीएससी परीक्षा की तैयारी के लिए क्या है जरूरी ।

⏺️परीक्षा की तैयारी करतें समय शॉर्ट नोट्स जरूर बनाए। किसी टॉपिक और चैप्टर कि सारी महत्वूर्ण जानकारी एक ही पेज पर लिखने की कोशिश करे, ताकि परीक्षा के पहले रिवीजन करना आसान हो जाए ।

⏺️पिछले 10 साल के प्रश्नों को आधार बनाकर उन्हें 3 कैटेगिरी में बाट ले, जिसमे पहले कैटेगिरी में उन प्रश्नों को रखे जिनसे ज्यादा सवाल पूछे गए हो। दूसरे कैटेगरी में उन सवालों को रखे जो बीच बीच में पूछ लिए गए हो, फिर अंत में वह सवाल जिनसे कभी कभी सवाल पूछे गए हो ।

⏺️प्रतिदिन 5 से 6 घंटे पढ़े फिर उसके बारे में सोचे, जो भी पढ़ा हो। उसे प्रतिदिन लिखे ताकि जो भी आपने पढ़ा है, उसका सही आकलन हो ।

⏺️8वी से लेकर 12वी तक की एनसीईआरटी जरूर पढ़े। एनसीईआरटी किसी भी परीक्षा के लिए सबसे महत्वपूर्ण मानी गई है चाहे स्टेट पीसीएस हो या यूपीएससी ।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here