कोशी की बड़ी उपलब्धि ,बीएनएमयू के नए कोर्स से छात्रों को नई दिशा मिल सकेगी । पढ़े पूरी रिपोर्ट ।

0
1247

मधेपुरा बिहार के मधेपुरा स्थित बीएन मंडल विश्वविद्यालय अंतर्गत विभिन्न कॉलेजों में जल्द ही बैचलर ऑफ वोकेशनल कोर्स की पढाई शुरू होगी। इसकी जानकारी देते हुए मधेपुरा कॉलेज मधेपुरा के संस्थापक प्राचार्य डॉ अशोक कुमार ने कहा कि बिहार में सबसे पहले बीएनएमयू से बैचलर ऑफ वोकेशनल कोर्स की पढाई शुरू होने जा रही हैं। सूबे में केवल 4 कॉलेजों को इसकी मान्यता मिली हैं, इसमें एक बिहार विवि से एक और बीएनएमयू के 3 कॉलेज शामिल है। उन्होंने कहा कि बीएनएमयू अंतर्गत बैचलर ऑफ वोकेशनल डिग्री की पढाई की पढाई मधेपुरा कॉलेज मधेपुरा, यूवीके कॉलेज कड़ामा, अनूप लाल कॉलेज त्रिवेणीगंज में शुरू होगी। इस कोर्स की अवधि एक वर्ष से तीन वर्षो की होगी, इसमें डिप्लोमा और डिग्री दोनों तरह के कोर्स में छात्र नामांकन ले सकते हैं। साथ ही उन्होंने कहा कि यह पहला मौका होगा जब हार्डवेयर एवं सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग सहित एक दर्जन तकनीकि कोर्स की पढाई विश्वविद्यालय द्वारा कराई जाएगी। इसमें शामिल होने वाले छात्रों को प्रमाण पत्र भी दिया जाएगा।

क्या है वोकेशनल कोर्स??

वोकेशनल कोर्स में स्टूडेंट्स को किसी खास फील्ड के ट्रेड्स के बारे में बताया जाता है। कोशि‍श रहती है कि युवाओं को इस क्षेत्र में पूरी तरह दक्ष बनाया जाए ।देश के कई सरकारी और प्राइवेट इंस्टीट्यूट्स युवाओं को वोकेशनल कोर्स के बारे में बता रहे हैं । आज कल के ट्रेंड को देखते हुए नौकरी मिलना आसान हो जाता है।

वोकेशनल कोर्स में पढ़ाए जाने वाले विषय

यह कोर्स कई तरह के फील्ड जैसे, हेल्थ केयर, ग्राफिक, वेब डिजाइनिंग, फूड टेक्नोलॉजी, कॉस्मेटोलॉजी में ऑफर किए जाते हैं । इसके अलवा तकनीकी कामों जैसे ऑटोमोटिव रिपेयर, प्लम्बिंग और एयरकंडिशनिंग में भी ऑफर होता है ।

शैक्षणिक योग्यता

10वीं से कम पढ़े-लिखे लोग भी करते हैं । हर कोर्स के हिसाब से इसमें योग्यता तय की जाती है । 10वीं/12वीं पास से लेकर ग्रेजुएट पास तक वोकेशनल कोर्स कर सकते हैं।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here