बिहारी बाबू ने कहा कि आज वो सामाजिक तौर पर अनाथ हो गए ।

0
881

नईदिल्ली: पूर्व प्रधानमंत्री का निधन 16 अगस्त की शाम 5 बजकर 5 मिनट पर हो गया, उनकी मौत की खबर सुनते की शत्रुघ्न सिन्हा ने कहां की आज वह राजनीतिक तौर पर अनाथ हो गए। शत्रुघ्न के अनुसार अटल जी ऐसे युगपुरुष थे, जिनके निधन से भारतीय राजनीति के एक युग का अंत हो गया। अटल जी पिछले 9 साल से खामोश थे, लेकिन उनकी खामोशी डराने वाली नहीं थी। उनके चले जाने से भारतीय राजनीति में जो शून्यता अा गया है। शत्रुघ्न ने कहा की उन्होंने अपने गॉड फादर को खो दिया है, और उनकी कमी को कई युगों तक कोई भरने वाला नहीं है ।

अटल जी ने आम कार्यकर्ता से स्टार प्रचारक बनाया ।

शत्रुघन सिन्हा ने कहा कि अटल जी के कवि हृदय व्यक्तित्व और गजब हाज़िर जवाबी से मुश्किल राजनीतिक हालात में भी, अपने व्यंगो से कटाक्ष कर गंभीर माहौल को भी हल्का कर देते थे। उनकी राजनीतिक साहस और प्रशासनिक क्षमता को युगों युगों तक याद रखा जाएगा। अपने आप को सौभाग्यशाली मानते हुए शत्रुघ्न ने कहा कि उन्हें अटल जी के साथ काम करने के साथ, उनके संग समय बिताने और मंत्रिमंडल में शामिल होने का का मौका मिला। अटल जी के नेतृत्व में भारतीय फिल्म उद्योग से जुड़े पहले व्यक्ति को मंत्रिमंडल में जगह मिलना और कैबिनेट मंत्री का दर्जा दिए जाने पर अपने आप की खुशनसीब मानते है। अटल जी को याद करते हुए उन्होंने कहा कि अटल जी के चुनाव क्षैत्र में प्रचार करने और उनके मतदाता से सीधे संवाद करने का मौका मिला। उन्होंने ही शत्रुघन सिन्हा को आम कार्यकर्ता से स्टार प्रचारक बनाया, जिसके बाद कश्मीर से कन्याकुमारी तक प्रचार करने का मौका मिला ।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here