उत्तर बिहार के कई जिलों की दूरी पटना से कम करनेवाली कच्ची दरगाह- बिदुपुर 6 लेन पुल को समय पर पूरा करने का मुख्यमंत्री ने दिया निर्देश, खोलेंगी दिल्ली तक का रास्ता।

0
2452

दरभंगा: उत्तर और दक्षिण बिहार को जोड़ने के लिए आज तक सिमित विकल्प ही उपलब्ध रहे है। उत्तर बिहार मे बसने वाली बड़ी आबादी दक्षिण बिहार का सफर गांधी सेतु, जेपी सेतु और राजेंद्र के जरिए करती आयी हैं। भविष्य में इनके अलावा भी कई मेंगा प्रोजेक्ट्स पर काम जारी है, जो उत्तर और दक्षिण बिहार की कनेक्टिविटी कही आसान कर देंगी।

समय पर पूरा होगा कच्ची दरगाह- बिदुपुर प्रोजेक्ट

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने बिहार के महत्वाकांक्षी प्रोजेक्ट में से एक कच्ची दरगाह से बिदुपुर के बीच बन रहे 6 लेन गंगा ब्रिज का निरीक्षण करते हुए, इसके काम में तेजी लाने का आदेश दिया। मालूम हो की 9.76 किमी लंबे इस ब्रिज में कुल 87 पाये बनाए जाने हैं, तो वहीं पूरे पूल का काम जनवरी 2021 तक पूर्ण किया जाने की समयसीमा निर्धारित हैं। 

जयनगर- दरभंगा हो पटना औरंगाबाद को जोड़ेगी पुल

प्रस्तावित सड़क का निर्माण नेपाल की सीमा पर अवस्थित जयनगर से शुरू हो कर दक्षिण बिहार के अंतिम जिले औरंगाबाद तक होगा। पूरे कॉरीडोर से नेपाल और उत्तर बिहार का पटना और झारखंड से सीधा संपर्क के साथ दिल्ली के लिए नया रास्ता भी खोलेगा।

बिहार के इस नये नॉथ साउथ कॉरीडोर से  नेपाल, दरभंगा, सीतामढ़ी, सहरसा, समस्तीपुर, मधेपुरा, सुपौल, मधुबनी सहित कई जिलें सीधे लाभान्वित होगें, साथ ही नेपाल से झारखंड तक एक नया इकोनॉमिक कॉरीडोर भी स्वरूप लेगा। औरंगाबाद के बाद सड़क को नेशनल हाईवे 2 से जोड़ दिया जायेंगा, जिससे दिल्ली का नया रास्ता भी खुलेंगा।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here