अपने क्षेत्र के लोगों को बाढ़ से बचाने पीठ पर बालू का बोरा उठाकर तटबंध पंहुचे डीएम साहब, लोगों का दिल जीता।

0
6598

मोतीहारी: पूर्वी चंपारण में पचपकड़ी के खोड़ीपाकड क्षेेेत्र में बाढ़ के हालातों का जायजा लेने पहुंचे जिलाधिकारी रमण कुुमार ने लोगों का दिल उस समय जीत लिया, जब तटबंध को बचाने को लेकर खुद ही बालू से भरा बोरा उठाकर चल पड़े। मालूम हो की लगातार हो रहे बारिश से पूर्वी चंपारण जिले के पूर्वी भाग के कई गांव बाढ़ के पानी से घिर गए हैं। जलस्तर के लगातार वृद्धि से क्षेत्र के तटबंधों पर दबाव लगातार बना हुआ है, जिसके बाद से ही प्रशासन हाई अलर्ट पर हैं।

तटबंध बचाने को लेकर बालू का बोरा उठा अन्य अधिकारियों के लिए कायम किया मिशाल।

Omega darbhanga- A trusted institute of preparation

मालूम हो की बाढ़ के हालतों के बीच पूर्वी चंपारण के डीएम रमण कुमार खुद लगातार तटबंधों पर नजर रखे हुए हैं, जिस के दौरान वह हालातों का जायजा लेने खोड़ीपाकड पहुंचे थे। निरीक्षण के दौरान ही जिलाधिकारी रमण कुमार ने हालातों को भापते हुए तटबंध को बचाने के कार्य में लग गयें और तटबंध को बचाने को लेकर खुद ही बालू से भरा बोरा उठाकर चल पड़े। आपको बताते चलें की नेपाल के तराई क्षेत्र के सहित बिहार के कई इलाकों में बारिश से पूर्वी चंपारण के कई इलाकों में बाढ़ की स्थिति हो गई है। बिगड़े हालातों के बीच जिलें मे पहले ही धारा 144 लागू किया गया हैं, बाढ़ के कारण ऐसे करने वाला पूर्वी चंपारण बिहार का पहला जिला हैं।


कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here